दलित परिवार की जलाई तीन गाड़ियाँ at Dinan (Code: HP/15-03-2021/12, Date: 16-Feb-2021 )

Back to search

Case Title

Case primary details

Case posted by NDMJ - Himachal Pradesh
Case code HP/15-03-2021/12
Case year 16-Feb-2021
Type of atrocity Ransacking of house hold items and destruction of movable and immovable property
Whether the case is being followed in the court or not? No

Fact Finding

Fact finding date

Fact finding date Not recorded

Case Incident

Case Incident details

Case incident date 17-Feb-2021
Place Village: Not recorded
Taluka:Not recorded
District: SOLAN(DP)
State: Himachal Pradesh
Police station DARLAGHAT
Complaint date 17-Feb-2021
FIR date 17-Feb-2021

Case brief

Case summary

यह घटना जिला सोलन की तहसील अर्की के गांव डीनन की है. इस गांव में ब्राहम्ण जाति के 24 घर, चमार जाति के 4 घर लोहार जाति 1 घर है. इस डीनन गांव में चमार जाति में से हरीश कुमार स्पुत्र भुंगर राम भाटिया रहता है जो की पेशे से ड्राइवर है. हरीश कुमार को उसके चाचा जी के लडके मनोज कुमार ने दिनांक :16.02.2021 को रात 1:30 बजे फ़ोन करके बताया की नीचे आपकी गाडियों में आग लग गयी है. जलने वाली गाडियों की संख्या 3 थी. जिसमे से एक  grand I 10 जो की 2019 मोडल थी और उसका नंबर HP 64C 1314  और दूसरी गाड़ी    Alto HP 64 8451, तीसरी गाडी मारुती 800 जिसका नंबर HP 64c 8900 है. हरीश कुमार ने यह बात सुनकर अपने परिवार के सभी लोगो को इकठ्ठा किया और इस घटना के बारे में बताया. उनकी गाड़िया 500 मी. नीचे सडक पर खड़ी थी और इनका घर उपर पहाड़ी पर है और नीचे जाने के लिए पैदल पगडंडी रास्ता है. जब तक हरीश कुमार उसके परिवार वाले और पड़ोसी गाडियों के पास पहुंचे तब तक गाड़िया सारी जलकर राख हो चुकी थी. इन तीनो गाडियों का नुकसान लगभग 14 लाख के करीब हुआ. फिर हरीश कुमार ने पुलिस और फायर ब्रिगेड वालो को फ़ोन किया फायर ब्रिगेड वाले 27 कि०मी०की दुरी से आ गये लेकिन पुलिसे वाले रात 3 बजे पहुंचे और यह घटना रात 1:30 बजे की है. हरीश कुमार ने पुलिस वालो से कहा की हमारी गाड़िया जगदीश कुमार स्पुत्र कांशी राम जो की राजपूत जाति से सम्बन्ध रखता है ने जलाई है. क्यूंकि हरीश कुमार ने बताया की जगदीश ठाकुर उन्हें पिछले 1 महीने से जान से मारने  और गाड़िया जलाने की धमकियां दे रहा था.17 जनवरी,2021 को दौलत राम जो की जगदीश ठाकुर का किरायेदार है ने हरीश कुमार के चाचा निक्का राम को फ़ोन करकें कहा की आपने और आपके सारे परिवार ने सिर्फ ज्योति देवी को ही वोट डालनी है जो की सरासर गलत है और निक्का राम ने इस बात से साफ़ इंकार कर दिया और बाद में ज्योति देवी चुनाव में हार गयी. इसी हार के कारण जगदीश ठाकुर और उसका किरायेदार दौलत राम ने हरीश और उसके परिवार वालो को  जातिसूचक गालियाँ निकालनी शुरू कर दी. फिर एक दिन मनोज और हरीश कुमार दौलत राम की दुकान पर सब्जी लेने गया तो दौलत राम मनोज कुमार को गलियां निकलने लगा. तभी वहां पर जगदीश ठाकुर और उसके दोनों बेटे एक का नाम मनोहर लाल है और दुसरे का नाम नामालूम है वह तीनो बाप बेटे मनोज कुमार और हरीश कुमार को गली गलोच करने लगे. तभी एक दम से जगदीश के बेटे ने हरीश के मुह पर जलती हुई लकड़ी दे मारी. जिससे हरीश कुमार के मुह की  बायीं तरफ गहरी चोट लग गयी और आँख के नीचे की हड्डी टूट गयी और हरीश कुमार बुरी तरह से जख्मी हो गया. हरीश कुमार को जख्मी हालत में उसके दोस्त देवेन्द्र, अमित,विट्टू और ज्ञान चन्द जो की ब्राह्मण जाति से सम्बन्ध रखते है हरीश कुमार को उसके घर ले गये. फिर जगदीश ठाकुर और उसके 20 साथी नीचे सडक पर हथियार लेकर मारपीट करने के इरादे से रास्ता रोक कर खड़े हो गये. हरीश कुमार को गहरी चोट लगने के कारण अस्पताल पहुँचाना जरूरी था फिर हरीश कुमार को उसके दोस्त उसको जख्मी हालत में दुसरे रस्ते से अस्पताल लेकर गये और बाद में दाडलाघाट पुलिसे स्टेशन FIR दर्ज करवाने ले गये. जिस FIR का नंबर 0005 है और इसमें 3(1)r, 3(1)s ,323,504,34 धाराओं के तहत यह मामला दर्ज हुआ है. यह घटना दिनांक:18.01.2021 समय 3:11am की है.लेकिन पुलिस वालो ने कोई कार्यवाही नही की और उल्टा पुलिसे वाले बिना गलती के हरीश कुमार और उसके साथियों को डांटने लगे.इसके बाद जगदीश कुमार बिना डरे हुए फिर से हरीश कुमार और उसके परिवार वालो को जान से मारने   और गाड़ियाँ जलाने  की धमकियां देने लगा और उसने 17.02. 2021. को रात 1:30 बजे हरीश और मनोज कुमार की तीनों गाड़ियाँ जला दी. इसके अलावा गाड़ियाँ जलाने से पहले नीलम कुमार जो की खच्चर द्वारा सामान ढोने का काम करता है तथा नीलम कुमार जगदीश के मुहल्ले में मन्दिर के निर्माण के लिए सामान की ढूलाई कर रहा था तो नीलम कुमार को जगदीश ठाकुर की पत्नी ने धमकी दी की तू यहाँ मत आना क्यूंकि तू भी हरीश कुमार और उसके पिता भुंगर राम भाटिया के परिवार से है. अगर तू यहाँ आया तो तुझे जान से मार देंगे. उसके बाद नीलम कुमार ने दो दिन अपना काम बंद रखा. फिर नीलम कुमार ने तीसरे दिन सामान ढूलाई का काम शुरू किया लेकिन जगदीश की पत्नी ने नीलम कुमार को सामान ढूलाई करते समय डंडे से पीटा और उसका फ़ोन भी तोड़ दिया यह घटना 1.02.2021 की है नीलम कुमार को इस मारपीट में गहरी चोट आई. नीलम कुमार ने अपने साथ हुई मारपीट की FIR दाडलाघाट पुलिस स्टेशन में दर्ज करवाई. लेकिन उस FIR  के खिलाफ पुलिसे वालों ने कोई कार्यवाही नहीं की.     

Total Visitors : 2816956
© All rights Reserved - Atrocity Tracking and Monitoring System (ATM)
Website is Managed & Supported by Swadhikar