17 Year old girl forced by the Hostel warden to get involved in a sexual activity, Khandwa MP (Code: MP -KNW - 04, Date: 14-Aug-2015 )

Back to search

Case Title

Case primary details

Case posted by Kala Ratan Social Education Society
Case code MP -KNW - 04
Case year 14-Aug-2015
Type of atrocity Discrimination or harassment or insult or denying or limiting access to opportunities in any educational institutions, hospital, dispensary and Primary Health centre
Whether the case is being followed in the court or not? Yes

Fact Finding

Fact finding date

Fact finding date Not recorded

Case Incident

Case Incident details

Case incident date 07-Aug-2015
Place Village: Not recorded
Taluka:Not recorded
District: KHANDWA(DP)
State: Madhya Pradesh
Police station AJK Khandwa
Complaint date 13-Aug-2015
FIR date 13-Aug-2015

Case brief

Case summary

दीपा संपाल पिता शांता राम संपाल उम्र 17 वर्ष  कक्षा 12वीं, स्कूल कन्या शाला पुनासा जिला खंडना मध्यप्रदेश में अध्ययनरत तथा कन्या छात्रावास पुनासा में रह रही थी। दीपा के माता पिता का देहांत हो चुका है और वह नानी के आश्रित है जो कि ओमकारेश्व र में रहती है। अनाथ होने का फायदा उठाने के चक्कर में छात्रावास की वार्डन रिजवाना आये दिन उसे अय्युब नाम के युवक के साथ जाने और संबंध बनाने के लिए दबाव दे रही थी। दीपा तीन वर्ष से छात्रावास में रह कर पढाई कर रही थी जो आये दिन वार्डन रिजवाना के दबावों से परेशान हो गई थी। रिजवाना युवक अय्यूब खान से दीपा के नाम पर तरह तरह के गिफ्ट लेती थी और उसे दीपा सौंपने का लालच देती थी। कई बार रिजवाना ने दीपा को अय्युब के साथ उसे बाहर भेजा। विरोध करने पर दीपा को परेशान करती थी। दिनांक 7अगस्त को रिजवाना ने दीपा को एक लिखित आवेदन दिया जो स्कूल की प्रिंसिपल को देने का कहा, उस आवेदन में गीता को टीसी देने को कहा गया था। जिस पर दीपा ने तनाव में आकर साइन कर टीसी ले ली। और साहस दिखाते हुए जिला कलेक्टर, थाना में शिकायत करने पहुंच गई। दीपा की शिकायत पर संग्यान लेते हुए जिला कलेक्टर और अजाक पुलिस ने रिजवाना और अय्युब को 14 अगस्त को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

फिलहाल रिजवाना और अय्युब जमानत पर रिहा हो चुके हैं वहीं दीपा की पढ़ाई छूट चुकी है, वह ओमकारेश्वर में अपनी नानी के पास रह रही है। ओमकारेश्वर के स्कूल उसे एडमिशन नहीं दे रहे हैं।
Total Visitors : 1194068
© All rights Reserved - Atrocity Tracking and Monitoring System (ATM)