Dalit Lady and her Husband beaten by Jatts (Code: HP/UNA/HRL/18, Date: 12-Jun-2016 )

Back to search

Case Title

Case primary details

Case posted by NDMJ - Himachal Pradesh
Case code HP/UNA/HRL/18
Case year 12-Jun-2016
Type of atrocity Forces or causes to leave his house, village or other place of residence
Whether the case is being followed in the court or not? No

Fact Finding

Fact finding date

Fact finding date Not recorded

Case Incident

Case Incident details

Case incident date 12-Jun-2016
Place Village: Not recorded
Taluka:Not recorded
District: UNA(DP)
State: Himachal Pradesh
Police station HAROLI
Complaint date 13-Jun-2016
FIR date 13-Jun-2016

Case brief

Case summary

यह घटना जिला ऊना की तहसील हरोली के गांव नंगल कलां की है. यह गांव ऊना से 25 कि०मि० की दुरी पर सिथत है. इस का गांव के साथ ही जिला ऊना का बहुत बड़ा फैक्ट्री ऐरिया टाहलीवाल है यहाँ पर बहुत सारी बड़ी फैक्ट्रियां है जिनमे हिमाचल व अन्य कई राज्यों से मजदूरी पर लोग काम करते है. वहीँ पर एक बहुत बड़ी दवाईयों की फैक्ट्री है जिसका नाम होस्टेस वायोटैक टाहलीवाल है. इस फैक्टी में पंजाब से नीलम कुमार पत्नी हरचरन सिंह उम्र 42 वर्ष जाति चमार है पिछले 6 वर्षों से काम कर रही है. जो की पंजाब से गांव खन्नी जेजों, डाकघर ललवाण, तहसील माहलपुर, जिला होशियारपुर पंजाब की पुश्तैनी रहने वाली है नीलम का पति भी टाहलीवाल में एक फैक्ट्री में काम करता है व दोनों ही वे औलाद है. और पिचले 6 वर्षो से नंगल कलां तहसील हरोली जिला ऊना में राजिंदर कौर के मकान में रह रहे थे.

     12/06/16 को रात 8:30 बजे नीलम का पति रात की ड्यूटी के लिए घर से फैक्टी के लिए तेयार हुआ जैसे ही घर से बाहर आया तो बाहर राजिंदर कुमार जाति चमार गांव ललड़ी जो की समरित जीवन बीमा योजना का ऐजेंट है आया क्योंकि नीलम भी पार्ट टाइम बीमा योजना में काम करती है राजिंदर कुमार ने नीलम के पति से कहा की अंकल आंटी हैं घर पर? उनको बीमा की किश्ते देनी है. नीलम का पति इतना कह कर चला गया की हाँ बेटा घर पर ही है तुम जा आयो राजिंदर कमरे में बैठा था और नीलम उसके लिए चाय बनाने लगी तभी वहा पर दिलबाग सिंह सिंह जाति जाट व सरदारा जाति जाट अपने 5-6 साथियों सहित आये और नीलम व राजिंदर को यह कह कर पीटने लग गए की तुम दोनों ने गंद फैला रखा है तुम दोनों गल्त ढंग से पकडे गए हो. राजिंदर कुमार को पीटते समय उन सब ने उसकी टीशर्ट फाड़ दी वह नीलम के कपडे भी फाड़ दिये जब वे सब नीलम को पीट रहे थे तो किसी ने उनकी पिटाई की वीडियो बनाई और नेट पर वाह्ट्स एप पर दाल दी रात 10:30 पर नीलम के पति को फैक्टी से बुलाया और दिलबाग सिंह सिंह जाति जाट व सरदारा जाति जाट दोनों उसके साथ धका मुक्की करने लगे वह कहने लगे तेरी पत्नी को रंगे हाथ पकड़ा है. फिर दिलबाग सिंह सिंह जाति जाट व सरदारा जाती जाट ने नीलम को कहा की पांच जुत्ते राजिंदर को लगायो तब हम इसे छोड़ेंगे फिर नीलम ने पांच जूते राजिंदर को लगाए तब उन्होंने राजिंदर को छोड़ा और नीलम व उसके पति को मकान खाली करने बारे कहा. दुसरे दिन नीलम व उसका पति हरोली सरकारी अस्पताल में गए और डाक्टर को अपनी घटना बताते हुए अपने जख्म दिखाए जिस पर डाक्टर शालू ने पुलिस को फोन किया और बताया की नीलम के साथ यह घटना घटी है और यह ब्यान देने के काबिल नहीं है फिर पुलिस की तरफ से आये उए केवल कुमार ने नीलम के ब्यान लिए और कोई भी कार्यवाही अमल ना लाइ. नीलम की मकान मालकिन ने नीलम को मकान खाली करने से माना कीया पर दिलबाग सिंह सिंह जाति जाट व सरदारा जाति जाट ने दबाब बनाया की मकान खाली कर दो मकान मालकिन राजिंदर कौर विधवा जाति जाट की दिलबाग सिंह सिंह जाति जाट व सरदारा जाति जाट के साथ कुछ पुरानी आपसी रंजिश है.

       1/07/16  सुबह नीलम व उसका पति अपने मकान की सफाई कर रहे थे की आचानक वहां पर चंचला देवी पत्नी दिलबाग सिंह सिंह जाति जाट वहां पर आई और गालिया निकालने लगी की तुम इस मकान के क्या लगते हो. आज हम पंचायत करंगे. इतना कह कर वो चली गई व नीलम भी फैक्ट्री के लिए चली गई. इसी दिन साम 4 बजे के करीब कोई महिला नीलम के घर पर आई और उसके पति से कहने लगी के दिलबाग सिंह ने तुझे अपने घर में बुलाया है. नीलम का पति दिलबाग के घर में ना जाकर अपने घर से लगभग 1 कि०मी० की दुरी पर एक पुली (छोटा सा पुल) उस पर जाकर बैठ गया पर दिलबाग सिंह ने अपने चार आदमी भेजे और उसे थपड मारते हुए ले गए वहां पर काफी सारे लोग एकत्रित हुए थे सभी ने नीलम के पति को बेरहमी से पिटा जब नीलम फैक्ट्री से वापिस आ रही थी तो उसे किसी बूढ़े आदमी ने बताया की तेरे पति को पिटा जा रहा है. व तुरंत दिलबाग के घर के लिए गई उस समय शाम के 6:30 बजे हुए थे जब नीलम पर नीलम को रास्ते में ही उसका पति आता मिल गया और उसके मुहं से खून निकल रहा था. नीलम के पति ने बताया की उसको इस लिए पीटा गया की हमने दिलबाग बगैरा के खिलाफ पर्चा क्यों करवाया और झूठा इलजाम लगाया की नीलम के पति ने दिलबाग की माँ को गले से पकड़ा. नीलम के पति ने उसे यह भी बताया की मौके पर पुलिस भी मोजूद थी उन्होंने भी कोई कार्यवाही ना की और लिख कर ले लिया की 2/07/16 को कवाटर खाली कर दो. नीलम भरी बारिश में 2 तारिक को अपना कवाटर खाली किया और नंगल खुर्द में नये कवाटर में अपना सामान रखा. इस पूरी घटना पर पुलिस द्वारा कोई कार्य वाही ना हुई है.

Total Visitors : 804317
© All rights Reserved - Atrocity Tracking and Monitoring System (ATM)