Dalit mahila ke sath marpeet (Code: UP-CR-004, Date: 19-Nov-2015 )

Back to search

Case Title

Case primary details

Case posted by Dynamic Action Group
Case code UP-CR-004
Case year 19-Nov-2015
Type of atrocity Other Crimes Against SCs
Whether the case is being followed in the court or not? No

Fact Finding

Fact finding date

Fact finding date Not recorded

Case Incident

Case Incident details

Case incident date 19-Nov-2015
Place Village: Not recorded
Taluka:Not recorded
District: CHITRAKOOT
State: Uttar Pradesh
Police station Thana Rajapur
Complaint date 19-Nov-2015
FIR date 19-Nov-2015

Case brief

Case summary

  •   ग्राम  महेबा घाट ----थाना --- महेबा घाट, जिला--- कौशाम्बी
  •   घटना का शीर्षक ------ सार्वाजनिक मन्दिरों में पूजा पाठ करने पर मारपीट ( दबंग ब्राह्मण द्वारा)

 

1

घटना की तिथि

19 – 11-2015

2

घटना स्थल

राजापुर जालपा मंन्दिर

जिला – चित्रकूट

3

तथ्य अन्वेषण तिथि

27- 11 – 20 15

4

तथ्य खोजी दल

1 अनुसूइया 2 संध्या

5

तथ्य खोजने का आधार

डग सदस्य दादा जी द्वारा फोन पर सूचाना मिली।

 

घटन की पृष्टभूमि व सारांश

उत्तर प्रदेश के बुन्देलखण्ड क्षेत्र का सबसे पिछड़ा जिला चित्रकूट का बहुत गरीब, दबंगो गुड्डो, बदमाशो त्रस्त एरिया है जो तुलसीदास जी की पवित्र जन्मभूमि स्थान से जाना जाता है । यहाँ पर आज भी छुआछुत दलितो से बेगार का काम करवाया जाता है इसका विरोध करने पर बेरहमी से मारपीट व हत्या कर दी जाती है।

ऐसी ही स्थिति में चित्रकूट जिला मुख्यालय से उत्तर दिशा पर 45 कि. मी. दुर राजापुर थाना है। थाने से ही 3 कि. मी. पूर्व दिशा की ओर जालपा देवी मंदिर है। इस मंदिर के इर्द गिर्द पूरी ब्राह्मण दवंगो की बस्ती है । इस मंदिर में जो भी दलित लोग पूजा पाठ करने आते है तो उनको पूजा पाठ का सामान स्वयं ले लेते है। और उनको मंदिर छुने नही देते और दुर दुर से पूजा करने देते है। इ सी तरह धर्म लाल S/0 स्वार्गिय श्री धन्नू लाल निवासी ग्राम महेबा घाट जिला कौशाम्बी मूल निवासी है धर्म लाल अपने बड़े बेटे रामबली भारती के देवी पुजवाने अपने ससुराल राजपुर आया था। साथ में  उसके तमाम औरते तथा नात रिस्तेदार के साथ दिनांक 19 – 11 – 2015 को जालपा देवी मंदिर पूजा करने आये थे। जैसे ही पुजा करने के लिए मंदिर के अन्दर जाने कि कोशिस की तो मालिन मंशा देवी पत्नी मुन्ना लाल ने कहा कि तुम लोग मंदिर को नही छु सकते हो क्योकि जाति के डोमार हो तुम दुर से पुजा पाठ कर लो और चढावे का जो सामान लाये हो वो मुझे दे दो मै चढा दूगी।

उन्होने ने बोला कि मै ऐसा नही कर सकता क्योकि ए सार्वाजनिक मंदिर है तो हम स्वयं ही पूजा करके चढावा चढायेंगे। यह बात सुन मालिन मंशा देवी दौड़कर रोहित तिवारी पुत्र लाल बाबू तिवारी राजापुर के मंदिर मे लिवा आई कहा कि यह डोमार अछुत मंदिर को अपबित्र कर रहे है मेरा कहना नही मान रहे है । तब रोहित तिवारी गन्दी गन्दी गालियं देना शुरू कर दिया और उनके बैन्ड बाजे को तोड़कर फेक दिया, महिलाओ के साथ मारपीट करने लगा धर्म लाल की पत्नी आशा  को घसीट कर मारने तमंन्चा निकाल कर कनपटी पर लगा दिया और गले में हाथ डालकर पटक दिया। जब धर्म लाल अपनी पत्नी को बचाने गया तो असको भी मारने लगा। जो भी ब्यक्ति बचाने  के लिए जाते उनके भी डंडो से मारा सभी लोग राजापुर थाने में जाकर अपनी आप बीति बताई तो छोटे दरोगा तुरंत घटना स्थल पहुँचे जिसमे रोहित तिवारी नही मिला तब अन्होने कहा कि आप अपलिकेशन लिखक दे दीजिए आप का मुकदमा लिखा जायेगा । अपलिकेशन देने पर एफ. आई. आर दर्ज कि गयी धारा अपराध संख्या 314 धारा 323, 504, 356 S C S/T  एक्ट 3(1) Xiv  के अन्तरर्गत एफ. आई. आर दर्ज करके अपराधी रोहित तिवारी , सहयोगी मंशा देवी को जेल भेज दिया।

गाँव की सामाजिक, आर्थिक,राजनितिक पृष्ठभूमि

महेबा घाट गाँव में लगभग 8 हजार कि आबादी है। जिसमें 95 %  निषाद है। अन्य 5 %  अन्य जातियां है। यहाँ पर 1 घर मेहतर, 20 घर रैदास, 10 घर कुम्हार, 20 घर ब्राह्मण, 12 घर यादव, 12 घर गुप्ता, 2 घर मुस्लमान, 1 घर कहार, 10 घर आरख , 1 घर कलार, 2 घर कुर्मी, 10 घर विश्वकर्मा है। यहाँ पर सार्वजानिक स्थानो पर कोई छुआछुत नही है। क्योकि यहाँ पर बाहुल्यता ब्राह्मणो की नही है. यहाँ पर दलितो की स्थिति ठीक है। क्योकि जमुना जी का किनारा होने के कारण  रोजगार के साधन उपलब्ध है, और कस्बा होने के कारण मजदूरी के स्त्रोत है । यहाँ पर राजनैतिक चेतना है जिसमे समस्या गाँव से बाहर से आ रही है। मुददे के प्रति जागरूकता है । जिसमे हर ब्यक्ति स्वयं कि लड़ाई की लड़ाई को आगे तक ले जाने को तैयार  है। क्योकि पीडित परिवार राजनिति से जुड़ा है । वर्तमान में आशा देवी बी डी सी की मेम्बर  के पद पर है।

दस्तावेजो की सूची,

1 F I R  की काँपी

पीड़ित, गवाह, अभियुक्त व अधिकारियो के बयान

क्र.

नाम

उम्र

लिंग

पिता या पति का नाम

जाति

ब्यवसाय

पिन कोड सहित पूरा पता

बयान का दिनांक व समय             

1

धर्म लाल

35

पुरूष

स्व. श्री धन्नू लाल

डोमार

सफाई कर्मचारी

गाँव सहेवा घाट – थाना –महेवाघाट जिला- कौशाम्बी

30-11-2015 समय दोपहर 12 बजे

 

2

आशा

32

महिला

धर्म लाल

डोमार

B  D C मेम्बर

,,

12 . 30 बजे

 

पीड़ित पक्ष का बयान-

मै धर्मलाल पुत्र स्व धन्नुलाल उम्र 35 वर्ष मै अपने निवासी महेवाघाट थाना – महेवाघाट- जिला कौशाम्बी मेरे 2 लड़का 1 लड़की है और मै सफाई कर्मचारी के पद पर कार्यरत हूँ। मै अप ने बड़े बेटे रामबली भारती जो कक्षा 9 का छात्र है, इनका दहिनवारा पूजवाने 19 -11 – 2015 को अपनी ससुराल राजापुर गया था । जब हम लोग जालपा देवी के मंदिर गये तो वहाँ पर मालिन पहले से थी। हम लोग पूजा पाठ करने की बात कही तो उन्होने कि आप मंदिर में नही घुस सकते दुर से ही कर तो जैसे हम लोग मंदिर में देवी पुजने के लिए चढे तो दौड़ कर मालिन रोहित तिवारी को बुला लाई वो पिस्टल लेकर आया और माँ बहन की गालिया देने लगा।  कहा कि तुम साले भंगी डोमार  पूरे संसार का मैला उठाते हो और यहाँ पर हमारी देबी देवताओ को अपवित्र करने आ गये हो । कहते हुए पिस्टल बाहर निकाल लिया तो मै तुरंत एस सो साहब को राजापुर थाने को फोन किया और घटना की जानकारी बताई और कहा कि हमारे जान का खतरा है। उन्होने कहा कि मै पहाड़ी ब्लाक मे प्रधानी नामंकन में ब्यस्त हूँ। आप थाने आ जाईए आप की कार्यवाही की जायेगी । मै थाने गया तो मुझे छोटे दरोगा लेकर घटना स्थल लीवा ले गये। वहा पर रोहित तिवारी नही मिले तो वापस फिर थाने आये तब तक सी ओ राजापुर (सत्यवीर सिंह) एस सो राजापुर थाने में आ चुके थे। उन्होने कहा कि आप अपनी अप्लीकेशन लिख कर दो आपका मुकदमा लिखा जायेगा। मै उसी समय अप्लीकेशन लिखक दिया । मालिन ( मंशा देवी ) को लेकर घटना स्थल के तमाम ब्राह्मण लोग थाने पहूँचे सी. ओ साहब ने मालिन से पूछा आप कौन है तो मालिन ने बताया कि मै मालिन हूँ जालपा देवी मंदिर में पूजा पाठ करवान का काम करती हूँ। मैने इन लोगो को देवी छुने को बहुत मना किया लेकिन यह नही माने तब एस. सो साहब ने कहा कि तुम भी जेल जाने की तैयारी बना लो । और हमारा मुकदमा दर्ज करके दुसरे दिन रोहित तिवारी और मंशा देवी को गिरप्तार करके जेल भेज दिया।

पीड़ित आशा का बयान-

मै आशा देवी पत्नी धर्मलाल निवासी महेवा घाट थाना हेवाघाट जिला कौशाम्बी उत्तर प्रदेश की निवासी हूँ। और वर्तमान में B  D  C  (क्षेत्र पंचायत) सदस्य है। मै अपने बड़े बेटे का दहनीवारा पूजवाने अपने मायके राजापुर गई थी। जब हम लोगो ने जालपा देबी मंदिर पुजा करने पहुँचे तो मालिन (मंशा देबी ) कहा कि देबी भ्रष्ट हो जायेगी तुम डोमार हो तुमको देबी देवता छुना मना है। हम लोगो ने अपना समान निकाल कर जबरजस्ती देबी पूजने लगे तो चढावे की साड़ी और पैसा ले लिया और तुरन्त रोहित तिवारी को लिवा लाई, रोहित तिवारी आया और कहा कि मादर चोद भंगी , डोमार भाग जाओ नही तो गोली से उड़ा दुगाँ और पिस्टल जेब से बाहर निकाल लिया जब मै मंदिर से बाहर निकली तो रोहित तिवारी ने गला पकड़ कर मंदिर के चबुतरे पर फेक दिया और मेरे गले के दो, दो तोले का हार पीछे से खींच लिया। फिर हम थाने चले गयेंवहाँ पर र्पोट लिखवाया लेकिन दोनो हार नही मिला ।

क्र.

नाम

उम्र

लिंग

पिता- पति

धर्म

ब्यवसाय

पिन कोड. पता

बयान का दिनांक व समय

1

पप्पू

21

पप्पु

छेदी लाल

 

मजदूरी

थाना महेवा घाट. गाँव महेबा घाट जिला- कौशाम्बी

30-11-205

समय 1 बजे दोपहर

 

 गवाह का बयान

पप्पु पुत्र छेदी लाल  हमारी चाची आशा अपनी बेटे की दहीनवारा पुजवाने अपने मायके राजापुर गई थी, हम लोग बैन्ड बाजा बजा रहे थे। जैसे जालपा देवी मंदिर पहुँचे तो मालिन ने कहा कि आप दुर से देबी पुज लो अन्र नही आना जब हमारी चाची जबरजस्ती मंदिर के अन्दर पुजने गयी तो पूजा का सारा समान चुरा लिया और 501 रूपये पूजा करने के लिए ले लिया । और इसके बाद दौड़कर रोहित तिवारी को बुला लाई रोहित तिवारी आ कर गन्दी – गन्दी गाली देने लगा। तथा हमारा बाजा तोड़कर फेक दिया। इसके बाद हम लोग थाने चले गयें। वहाँ पर हम लोगो की रिर्पोट लिखी गयी।

अभियुक्त पक्ष -

क्र.

नाम

उम्र

लिंग

पिता या पति का नाम

जाति

पेशा

पिन कोड सहित

बयान का दिनांक व समय

1

रोहित तिवारी

26

पुरूष

लाल बाबु तिवारी

तिवारी

कृषि

कस्बा राजापुर, थाना राजापु जिला चित्रकूट

 

 

बयान नही ले पायें क्योकि वह जेल में है।

अधिकारी पक्ष –

क्र.

 

 

 

 

नाम

सत्यवीर सिहं

उम्र

 

लिंग

पुरूष

पिता या पति का नाम

 

जाति

ठाकुर

धर्म

हिन्दु

पद

सी.ओ

बयान का दिनांक

व समय

27 – 11 - 2015

 

अधिकारी पक्ष का बयान

सत्यवीर सिहं सी. ओ राजापुर  सी. ओ साहब से बात किया तो उन्होने कहा कि हम मुकदमा लिखकर के आरोपी को जेल भेज दिया है और अभी हमारी तफतीश जारी है।

घटना की वर्तमान स्थिति –

अपराध संख्या 314 , धारा 323, 504, 356,3(1) Xiv के अन्तर्गत मुकदमा को पंजीकृत करके अपराधी  जेल में है। विवेचना जारी है।

सरकारी अधिकारियों की भूमिका – इस केश में सरकारी अधिकारियो की भूमिका रही  क्योकि पीड़ित पक्ष को गुमराह ना करके तुरन्त कार्यवाही की ।

सुझाव –

लगातार पीड़ित पक्ष से सम्पर्क बनायें रखने की जरूरत है। ताकि किसी दबाव के कारण समझौता ना करें।

फालोअप –

समय समय से पीड़ित पक्ष से मिलते रहेगें ताकि केस की लगातार जानकारी हो सकें।

Total Visitors : 666227
© All rights Reserved - Atrocity Tracking and Monitoring System (ATM)