Dominat people have deadly attack on dalits people and seriously injured half dozen dalits . (Code: BR/00/2021, Date: 22-Dec-2020 )

Back to search

Case Title

Case primary details

Case posted by NDMJ-Bihar
Case code BR/00/2021
Case year 22-Dec-2020
Type of atrocity Other Crimes Against SCs
Whether the case is being followed in the court or not? No

Fact Finding

Fact finding date

Fact finding date Not recorded

Case Incident

Case Incident details

Case incident date 22-Dec-2020
Place Village: Not recorded
Taluka:Not recorded
District: Madhubani(DP)
State: Bihar
Police station Vishfi P.S.
Complaint date 23-Dec-2020
FIR date 23-Dec-2012

Case brief

Case summary

       दबंगों ने  हरवे  हथियार से लैश होकर दलितों पर जानलेवा हमला बोल आधा दर्जन दलितों को घम्भीर रूप से घायल किया 

       ---------------------------------------------------------------------------------------------------------

घटना सूबे बिहार के मधुबनी जिले के पतौना ओपी - विशफी थाना क्षेत्र के परसौनी गाँव की है . दिनांक 22 .12.2020 की रात्रि करीब 08 बजे ग्रामीण दबंग विजय साहू , अजय मंडल , सोनू मंडल , लालबाबू मंडल अवधेश मंडल , चुन्नुमंडल सहित गैर अनुसूचित जाति के  दर्जनों की संख्या में हरवे हथियार से लैश होकर  पीड़ित अनिलाराम ,सुनील राम ,रामानंद राम राजकुमार राम पर जानलेवा हमला बोल दिया जिसमे तीन पीड़ित गंभीर रूप से घायल हो गए . 1. सुनील कुमार राम का सर फट गया , 12 टांका लगा है साथ ही उनके बयां पैर फ्रेकचर हो गया 2. अनिल कुमार राम का सर फट गया 09 तान्कान लगाया गया है काफी चोटें आई है 3. दायें हाथ की हड्डी थोड दी गयी तथा पश्ली की हड्ड्याँ क्रेक हो गयी है . इसके अलावा रामा नन्द की पत्नी फुलिया देवी के साथ दूर्व्योहार किया गया तथा आधे दर्जन लोगो को चोट्टे लगी है . हमलावरों द्वारा दहशत कायम कर दिया गया अनिल राम  के दामाद की आल्टो कार क्षतिग्रस्त कर डी गयी . l ग्रामीणों द्वारा हस्तक्षेप किये जाने पर हमलावर पीडितो को जान से मारने एवं झूठे मुकदमो में फ़साने की धमकिय देते हुए चले गए . 

घटना का कारन यह है कि भूमि विवाद को लेकर आपराधियो द्वारा पूर्व में भी पीडितो पर अत्याचार किया गया था जिसके सम्बन्ध में पीड़ित रामानंद राम ने विस्फी थाना में कांड संख्या 361 / 20 के तहत प्राथमिकी दर्ज करायी गयी थी . प्रथैकी में अन्य धाराओ के साथ साथ एससी एसटी एक्ट की भी धाराए लगायी गैयी थी . अरोपियी द्वारा मामले को सुलह करने के लिए दबाव बनाया जा रहा था . पर पीड़ित मामले को सुलह करने से इंकार कर दिए थे . 

Total Visitors : 2474170
© All rights Reserved - Atrocity Tracking and Monitoring System (ATM)
Website is Managed & Supported by Swadhikar