Total records:725

previous123456789...144145next

Insult Dalit Youth

    that victim Rocky Gahlot s/o Sh. Jagdish caste valmiki r/o 248/10 rani mahal valmiki basti sanoli road panipat. He was working as a peon at District Town Planner Hudda office Panipat on contract basis since approx. Five years. In January 2020 new DTPO Lalit kumar caste Jat posted in DTPO office. Accused Lalit kumar gathered all the office staff and taken their introduction, when victim Rocky introduce himself accused comments on him that” all right you are Rocky scoundrel”. Victim Rocky was surprised and silent, he feel insult in front of all staff members. From this day accused Lalit kumar started tortured to victim Rocky as mentally and physically. Accused Lalit kumar forcedly wash his private vehicle from victim Rocky and comments on his cloths. Accused order to victim to stand out of office and in No Smoking Jon. But victim tolerate all insult to save his job since seven months.


    On dated 21.7.20 victim Rocky was on his duty at police station Samalkha yet accused Lalit kumar reached their and said that go from here because new peon is appointed. When victim reached in office, where he was relive from his job. But victim recommendation by somebody for his job and pending his salary so he went in the Huda office on dated 27/7/20. When victim entered in DTPO cabin but Accused Lalit kumar comment that he never inveigle any recommendation and how you enter here. Accused Lalit kumar get angry on victim and comments that you are able to enter in the office, you should clean the road with broom and dirty drain. Accused said that get out from my cabin.

  • Posted by: NDMJ-Haryana
  • Fact finding date: 01-08-2020
  • Date of Case Upload: 18-09-2020

दलित पर दराट से जानलेवा हमला कर किया लहुलुहान at Baloun

    यह घटना जिला ऊना की तहसील बंगाणा के गांव भरमाड डाकघर बलौंन, उप तहसील जोल तहसील बंगाणा, जिला ऊना, हि०प्र० 174314, की है. यह गांव ऊना मुख्यालय से 50  कि०मी० की दुरी पर है. राज्य हिमाचल में जातिय व्यवस्था पर आधारित छुआछूत की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही है भारत को आज़ाद हुए 72 वर्ष के करीब हो गए है पर ऐसी घटिया मानसिकता रखने वाले लोग आज भी समाज में मौजूद है. घटना सिथित इस गांव में पंझडा (डॉम) SC जाति के 2 घर, चमार जाति के 10 घर, राजपूत जाति के 15 घर, जीर जाति के 3  घर, ब्राहमण जाति के 11 घर, है इस गांव में 2 प्राइमरी व एक +2 तक हाई स्कुल है इस गांव में डिस्पेंसरी भी है व् पानी की भी कोई समस्या नहीं है.


     


    इसी गांव में दलित जाति डॉम( पंझडा) SCमें से दर्शन कुमार स्पुत्र गुरदास राम रहता है जिसकी उम्र लगभग 50 साल की है वह विवाहित है और उसकी तीन बेटियां एक बेटा है. वह निम्न पते का रहने वाला है गांव गांव भरमाड डाकघर बलौंन, उप तहसील जोल तहसील बंगाणा, जिला ऊना, हि०प्र० 174314, है.


     


     दिनाक 4/09/20 को दर्शन कुमार अपने मनरेगा के काम के लिए सुबह 8:30 पर घर से गया मनरेगा का काम गांव में ही दर्शन कुमार के घर से 1 कि०मी० दुरी पर लगा हुआ है. जब दर्शन कुमार अपने घर से अभी 250 मीटर दुरी पर ही गया था तो इतने में उसके बेटे मुकेश का फोन आया की पापा आप घर आ जाओ यहाँ घर पर हमारी जमीन से योगराज ट्रैक्टर निकाल कर ले जा रहा है. क्योंकि योगराज शर्मा स्पुत्र स्व: धनी राम शर्मा के रास्ते को लेकर विवाद चला हुआ है योगराज शर्मा स्पुत्र स्व: धनी राम शर्मा दर्शन कुमार के घर से 300 मीटर की दुरी पर अपनी आवादी में रह रहा है. लेकिन उसने लगभग 4 साल पहले दर्शन कुमार के मकान के थोड़ा पीछे अपनी ज़मीन में अपना काफी बड़ा मकान बनाया और जब योगराज शर्मा स्पुत्र स्व: धनी राम शर्मा  के मकान का काम चला हुआ था तो उसने दर्शन कुमार के साथ दोस्ताना रख रखाव रखा और दर्शन कुमार की ज़मीन से ही सारा मकान बनाने का सामान निकाला और दर्शन कुमार के घर से ही बिजली का कनेशन लिया लेकिन जब योगराज शर्मा का मकान बन कर तेयार हो गया तो उसने अपने मकान वाली ज़मीन को कांटे दार तारों से चारों और से बंद कर दिया इसी दौरान दर्शन कुमार की बेटियाँ अपने खेतों से लकड़ी लाने योगराज शर्मा स्पुत्र स्व: धनी राम शर्मा की ज़मीन से गुजरने लगी तो उसने रोक दिया और कहा की इधर से नहीं आना जाना है तुम लोगों ने उसके बाद फिर दर्शन कुमार ने भी योगराज शर्मा स्पुत्र स्व: धनी राम शर्मा को मना कर दिया की आप भी हमारी जमीन से नहीं आ जा सकते


         दिनाक 4/09/20 को जब योगराज शर्मा स्पुत्र स्व: धनी राम शर्मा अपने खेतों को जोतने के लिए दर्शन कुमार की ज़मीन से जबरदस्ती ट्रैक्टर निकालने लगा तो उसको दर्शन कुमार के बेटे व पत्नी ने रोका तो योगराज शर्मा स्पुत्र स्व: धनी राम शर्मा झगडे पर उतारू हो गया और दर्शन के बेटे को गालियाँ निकालते हुए पीटने लग गया इतने में दर्शन कुमार भी मनरेगा के काम को जाते हुए वापिस आ गया उस दोरान योगराज शर्मा स्पुत्र स्व: धनी राम शर्मा दर्शन कुमार के बेटे को लात मुक्कों से पीट रहा था और कह रहा था सालो डूमनो तुम लोगों को जला कर राख कर दूंगा व् और भी काफी जाति सूचक गालियाँ निकलता रहता है.  जैसे ही दर्शन कुमार अपने बेटे को योगराज शर्मा के चुंगल से छुडाने लगा तभी योगराज शर्मा की पत्नी मीना ने दर्शन कुमार के सिर में दो बार डंडों से वार किया और दर्शन कुमार अपनी सूद बुध खो बैठा जब वह उठ कर संभला तो योगराज शर्मा ने उसके दायें कंधे पर दराट से हमला कर उसको लहू लुहान कर दिया फिर दर्शन कुमार बेहोश हो गया और उसे उसके बेटे ने पुलिस चौकी जोल पहुचाया लेकिन 2 घंटे तक पुलिस ने बिठा रखा और कोई भी शिकायत ना लिखी फिर 2 घटें बाद शिकायत लिख कर दर्शन कुमार को अस्पताल बंगाणा ले जा कर मेडिकल करवाया और वहा पर दर्शन कुमार को कंधे पर 9 टाँके लगे पर दुःख की बात यह है की दोषी अभी भी अपने पास दराट लेकर घूम रा है और पुलिस द्वारा कोई कारवाही ना की है.     


     

  • Posted by: NDMJ - Himachal Pradesh
  • Fact finding date: Not recorded
  • Date of Case Upload: 16-09-2020

Images

         

Dalit man Nithishkumar abused by Caste name and brutally attack by Caste hundu

    Mr. Munusaamy and his wife Amsavalli belonged to the Scheduled caste and resident of Melmalaiyanur Block Melachrery village in Villupuram District. Their elder son Nithishkumar had gone to his grandmother’s home in melacherry village on 19.07.2020 around 5.30PM. Nithishkumar took a pakoda from his grandmother lakshmi and went near the Village Panchayat office and started eating. And then Anbazhagan of Uudaiyar caste (dominant caste) asked Nithish Kumar that “who are you, why are you eating pakoda here?”, Nithishkumar had replied him that he has come to his grandmother lakshmi’s house. The next moment Anbazhagan had verbally abused Nithishkumar with filthy words and abused by referring to the caste name. Anbazhagan and karthikeyan brutally attacked Nithishkumar with a knife, wooden logs and iron rod. Nithishkumar was severely injured in the brutal attack. That same night around 8.00 PM Nithishkumar was admitted in Gingee government hospital as an outpatient and got treatment and returned home. Next day 20.7.2020 at 11.00PM Nithishkumar had lodged a complaint at Gingee police station. The accused persons were arrested under SC/ST POA amendment act -2015. 


    on 20.07.2020 FIR has been registered at the Gingee PS with the crime no: 2577/2020 u/s 147, 148, 294(b),323, 324, 427,506(ii) IPC r/w: 3(1)(r), 3(1)(s), 3(ii)(Va)  – SC/ST PoA  Act.

  • Posted by: Social Awareness Society for Youths-SASY
  • Fact finding date: 20-07-2020
  • Date of Case Upload: 14-09-2020


Files

1) FIR Copy 

दलित युवती का जातिय शोषण व रास्ते पर जाने से रोकना at Nakdoh

    यह घटना जिला ऊना की तहसील घनारी के गांव राम नगर (नकडोह) बार्ड न० 1 की है. यह गांव ऊना मुख्यालय से 50 कि०मी० की दुरी पर है. राज्य हिमाचल में जातिय व्यवस्था पर आधारित छुआछूत की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही है भारत को आज़ाद हुए 70 वर्ष के करीब हो गए है पर ऐसी घटिया मानसिकता रखने वाले लोग आज भी समाज में मौजूद है. घटना सिथित इस गांव में चमार जाति के 15 घर, राजपूत जाति के  25 घर, ब्राहमण जाति के 4 घर, बाती (OBC) 250, लोहार जाति के 3 गुज्जर जाति के 20 घर. जुलाहा जाति के 20 घर, झीर जाति के 4 घर है.


     


                 इसी गांव में दलित चमार जाति में से वीना कुमारी पत्नी श्री राकेश कुमार रहती है राकेश कुमार राजपूत जाति से सम्बन्ध रखता है, इन दोनों ने प्रेम विवाह करवाया है. इन दोनों की शादी 12 फरवरी 2009 को जिला ऊना की तहसील अम्ब के कोर्ट में हुई है. इन दोनों की अंतरजातीय शादी को लेकर बीना और राकेश कुमार के परिवार वाले सहमत हैं. बीना देवी के 2 बच्चे हैं एक बेटा और बेटी. इसी गांव में बीना देवी के घर परिवार से लगभग 200 मीटर की दुरी पर चैंचल सिंह अपने परिवार के साथ रहता है जो की अपने मामा मामी के घर में रहता है. चैन्चल सिंह की पत्नी का नाम सलोचना देवी है सलोचना ने सन 2011 में बीना देवी को धीरे धीरे बातें सुनानी शुरू कर दी की देखो वो जा रही है चमारी जिसने हमारे राजपूत लडके से शादी की है. इसके बाद हर आये दिन सलोचना देवी ने बीना देवी को तंग करना शुरू कर दिया. इस बात को लेकर राकेश कुमार ने कई सलोचना देवी की मिन्नत की की वह इस तरह की अभद्र टिप्पणिया ना किया करे पर इस पर सलोचना ने को बात ना मानी और अपने अभद्र व्यंग जारी रखे जिस पर बीना देवी का घर से आना जाना दुशवार हो गया जिस पर बीना देवी ने तंग आ कर 23.1.16 को पुलिस थाना अम्ब में अपनी शिकायत कर दीऔर उस दिन बीना देवी के साथ सलोचना देवी ने अपनी गलती मानते हुए राजीनामा कर लिया इतना होने की बावजूद भी सलोचना देवी अपनी घटिया मानसिकता से बाज़ नहीं आई और हर आये दिन बीना देवी को जातिय टीपनी करती रही


     


         बीना के घर पक्की सड़क तक 200 मीटर का कचा रास्ता है और बहुत साड़ी जंगली झाड़ियाँ है जबकि सलोचना देवी का घर बिलकुल पक्की सड़क के साथ है जब बीना व उसके पति ने पंचायत से मिलकर कच्चे रास्ते की सफाई के लिए 1 लाख रूपये पास करवाए और 8.8.20 को रास्ते की सफाई हेतु पंचायत ने लेवर लगा दी इतना देख सलोचना देवी उन्हें गालियाँ निकालने लगी और धमकियां देने लगी जब वीना ने इसका विरोध किया तो सलोचना कहने लगी के मैं तुझे जेल बिजवाउंगी चक्की और इस रास्ते को कभी पका नहीं होने दूंगी तू चमारी हमारे राजपूतों के बीच आ गई है. सलोचना बीना के साथ हाथापाई पर उतारू हो गई. और कहने लगी तेरे पति को अपनी बेटियों की छेड़खानी करने के आरोप में फसाउंगी.


             फिर बीना ने अपने पति को साथ लेकर थाना अम्ब में अपनी शिकायत दर्ज करवाई और सलोचना देवी के खिलाफ FIR दर्ज करवा दी पर अभी तक सलोचना देवी के खिलाफ अभी तक कोई कार्यवाही नहीं हुई है.        

  • Posted by: NDMJ - Himachal Pradesh
  • Fact finding date: 14-08-2020
  • Date of Case Upload: 19-08-2020

Images

         

Pandiri Aruna

    Case details is not available
  • Posted by: Dalit Sthree Sakthi
  • Fact finding date: 25-06-2020
  • Date of Case Upload: 19-08-2020


Files

1) Aruna Docs 
previous123456789...144145next
Total Visitors : 2300008
© All rights Reserved - Atrocity Tracking and Monitoring System (ATM)
Website is Managed & Supported by Swadhikar