Total records:795

पशुयों के लिए रखा टंडा (मक्की घास) जलाया at Sohari

    यह घटना जिला ऊना की तहसील बंगाणा के गांव सोहारी की है. यह गांव ऊना मुख्यालय से 40 कि०मी० की दुरी पर है. राज्य हिमाचल में जातिय व्यवस्था पर आधारित छुआछूत की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही है भारत को आज़ाद हुए 70 वर्ष के करीब हो गए है पर ऐसी घटिया मानसिकता रखने वाले लोग आज भी समाज में मौजूद है. घटना सिथित इस गांव में पंझडा (डॉम) SC जाति के 10 घर,  चमार जाति के 60 घर, राजपूत जाति के 4 घर, सन्यार जाति के 50 घर, ब्राहमण जाति के 2 घर, जट जाति के 70 है इस गांव में 2 प्राइमरी व एक +2 तक हाई स्कुल है इस गांव में डिस्पेंसरी भी है व् पानी की भी कोई समस्या नहीं है.


     


    इसी गांव में दलित चमार जाति में से राम रथ  स्पुत्र नानकु रहता है जिसकी उम्र लगभग 62 साल की है वह शास्त्री मास्टर के पद से सरकारी स्कुल में से रीटाइड हुआ है. उसका एक बेटा है जो की अपनी कालेज की पढ़ाई कर रहा है. राम रथ की लगभग 1 किल्ला यानी 10 कनाल के आस पास खेती की जमीन सोहारी गांव में है. रामरथ ने अपने खेतों में मक्की की फसल बीज रखी थी मक्की की फसल निकालने के बाद कुल 700 के करीब टंडा (मक्की घास) के बण्डल अपने खेत में रख दिए जिनको 26.09.20 को रात 11 बजे के करीब गांव के ही राजपूत जाति से सम्बंधित अजय परमार स्पुत्र जगदेव सिंह ने आग लगा दी. रात को हिमांशु परमार ने राम रथ को फोन किया की आपका टंडा (मक्की घास) के बण्डल को आग लग गई है जल्दी आओ जब रामरथ ने देखा तो सारा टंडा (मक्की घास) के बण्डल जल कर राख हो गए थे रामरथ को हिमांशु परमार ने बताया की यह आग लगाने का काम अजय परमार ने किया है जब अजय परमार से इस बारे पूछा गया तो उसने बताया की मै बीडी पी रहा था और उस तरफ पेशाब करने गया तो आग लग गई तुम कर लो क्या करना है


             रामरथ ने 27.09.20 को पुलिस चौकी जोल में इस घटना की लिखित शिकायत दी पुलिस ने अजय परमार को बुलाया और पूछा वहा पर अजय परमार ने अपनी गलती को माना और 10 हजार नुक्सान राशि देने को कहा और अपनी गलती को राजीनामा तौर पर लिखित में माना. इस घटना का पुलिस चौकी जौल में ही राजीनामा हो गया है.  

  • Posted by: NDMJ - Himachal Pradesh
  • Fact finding date: 05-10-2020
  • Date of Case Upload: 15-12-2020

Images

   

Dalit Land occupied by Dominant

    on dated 30.9.20 at approx. 8.30pm police reached at victims house at village Mehmadpur and stop their construction work. when victims asked about it then police told that accused Nitisen bhatia given a compliant to police that victims are ecrohment on this land. accused also lodge an counter FIR against victim. vcitims provide his land documents and wittness but police favor to accused

  • Posted by: NDMJ-Haryana
  • Fact finding date: 23-10-2020
  • Date of Case Upload: 15-12-2020

Dominant people had deadly attack on dalits youth Indrajit Baitha

    दिनांक 14.06.2020 को सुबह 9.00 बजे , श्री इन्द्रजीत बैठा , उम्र करीब 48 वर्ष , पिता - गुरुचरण बैठा , जाति - अनुसूचित जाति ( धोबी ) , पेशा - PDS दुकानदार ,  ग्राम - केसरिया ,थाना - शिकारपुर , जिला - पश्चिमी चंपारण  के दबंग ग्रामीणों 1- बलिराम यादव ,पिता - स्वर्गीय ध्रूप यादव , उम्र करीब - 45 वर्ष 2. राकेश यादव ,उम्र - 25 वर्ष , पिता - बलिराम यादव 3. सुनैना देवी , उम्र - 42 वर्ष ,पति - बलिराम यादव 4. मन्टू यादव , उम्र -09 वर्ष ,पिता - बलिराम यादव 5- सिंटू यादव , उम्र -07 वर्ष , पिता - बलराम यादव , सभी जाति - पिछड़ी ( अहीर ) एक  राय होकर बलपूर्वक उनका ( श्री बैठा का ) दर्जनों बांस काट लिया और बजाप्ता टायर पर लाड कर दिन दहाड़े ले गए .  श्री बैठा , उनकी पत्नी सुनैना देवी ने बांस कटाने का विरोध किया तो उक्त सभी लोगों द्वारा  श्री बैठा को जाति सूचक गलियां दी गयी .  जानलेवा हमला बोल कर उन्हें जख्मी कर दिया गया  l उनकी पत्नी सुनैना देवी बीच बचाव करने लगी तो उक्त लोगो द्वारा उनके साथ भी दुर्व्योहर किया गया l श्री बलिराम यादव द्वारा सुनैना देवी को निर्वस्त्र करने का भी प्रयास किया गया . 


    मालूम हो कि उक्त गांव में पीड़ित की बिरादरी की आबादी मात्र 10 घर है , जबकि अहीर जातिओ की आबादी करीब 70 घर बताई गयी . i आबादी अधिक होने के कारन उक्त विरादरी का सर्वत्र वर्चस्व कायम है . उने डर के मारे दुसर लोग सही बातें बोलoने की सहस नहीं करते क्यों की उक्त विरादरी के लोग काफी दबंग है . शासन व् परशान में भी उनकी पहुँच व् परावी है .  


    घटना के संदर्भ में दिनाक  : 15.06.2020 को शिकारपुर थाना कांड स० : 302 / 20 U/S 341]323]354ch]379] 504]506] 34] IPC &3(r)(s)SC/STAct. के तहद प्राथमिकी दर्ज की गई है . 

  • Posted by: NDMJ-Bihar
  • Fact finding date: 21-06-2020
  • Date of Case Upload: 15-12-2020


Files

1) FIR 
2) FF report 
3) News clipping 
4) photo graph 
5) supervission report 
6) sp application 

The dominant people looted money the Dalit laborer and murdered them ruthlessly

     सूबे बिहार के सीतामढ़ी जिले के  बाजपट्टी थाना क्षेत्र के रतनपुरा ग्राम निवासी सुरेश राम ,पिता - स्वर्गीय रामेश्वर राम , अनुसूचित जाति ( चमार ) का सदस्य था . उसकी आर्थिक स्थिति अत्यंत दयनीय थी . उसकी 05 संताने है . एक बड़ी बेटी की शादी हो चुकी है . शेष अविवाहित है . श्री राम झुला  लगाने काम करता था . उनके साथ सर्वेश यादव , पिता -सीता रमण यादव , ग्राम -  भादियन, थाना - नानपुर ,जिला - सीतामढ़ी , राज्य -बिहार का निवासी , जाति - पिछड़ी ( अहीर )  भी उक्त काम करता था . जिसके चलते श्री राम एवं श्री यादव दोनों के बीच  मित्रता हो गई  थी .   दोनों एक दुसरे के घर आया जाया करते थे .        


    सुरेश राम को अपनी बेटी रागनी कुमारी , उम्र करीब 18 वर्ष  जो इस केस की सूचिका भी है कि शादी  करनी थी . पर उसके पास पैसे नहीं था . उन्होंने ने अपनी झुला को भासर गावं निवासी श्री लखीन्द्र पासवान से बेच दिया था . श्री पासवान ने कुछ पैसा श्री राम को दिया था और 100000 ( एक लाख ) रुपये बाकि था . चुकी श्री पासवान को झुला लगाने नहीं अट्टा था . वह झूला लगाने की कला श्री राम से सिखाना चाहता था . श्री पासवान दिनांक : 05.12.2020 को सुबह श्री राम के घर उससे बुलाने के लिए पंहुचा था . श्री पासवान ने श्री राम को बाकि रुपये चकने एवं झुला लगाना सिखाने के लिए श्री राम को अपने घर ले जाने के लिए अनुरोध करने लगा . श्री राम ने अपने मित्र सर्वेश यादव को भी बुला लिया और तीनो उक्त तिथि को ही लखीन्द्र पासवान के घर चले गए . श्री पासवान ने श्री राम को उसका बाकी एड लाख रुपये दिया . वाही श्री राम एवं उनका मित्र दोनों श्री राम के ससुराल गए और वहा से ७०००० ( सत्तर ) हतर रुपये कर्ज लेकर दोनो वापस लौटने लगा . रास्ते में सर्वेश यादव ने श्री राम की हत्या कर डाली और उसके रुपये लूट लिये . दिनांक : 08.12.2020 को उक्त मामले  के सन्दर्भ में बाजपट्टी थाना में कांड संख्या  427/ 20 ,u/s 302 ,379 ,IPC & 3(2)(v) sc /ST के तहद प्राथमिकी दर्ज की गयी है . पुलिस मामले के पार्टी संवेदन शील नहीं है . श्री राम की मृत्यु के पश्चात् उनके परिवार के सभी 06 सदस्यों के सकक्ष भुखमरी की समस्या उत्पन्न हो गई है . 


     

  • Posted by: NDMJ-Bihar
  • Fact finding date: 09-12-2020
  • Date of Case Upload: 11-12-2020


Files

1) FIR 

Dalit Murder at Hisar

    At approx. 4.45pm Dheeraram went at his home and told the entire incident to his family members. At approx. 5pm victim sitting in his house yet Accused  Anmol , Pawan, Rahul s/o Dharampal caste bishnoi, Rakesh & Sunder s/o jaina caste nai, Vishnu s/o omparkash, Vajir s/o balwant, Sonu,Pawan, Surender@kalu s/o bajrang caste bishnoi r/o village Ashranwa entered in victims house along with dangerous weapons like sticks, iron rods, accused caste abused and through out to victims on the road. All accused brutally attacked on victims in which victim Mamta w/o Dheeraram, Rani w/o suresh, Dheeraram, suresh & phiroji were seriously injured. Yet another family members of victims pardeep s/o mahipal, kuldeep s/o mahipal also reached the incident place, therefore all accused run away from there.


    Pardeep admitted to injured victims in MAMC Agroha hospital in a pick-up jeep, where Phiroji was died due to serious injury.

  • Posted by: NDMJ-Haryana
  • Fact finding date: 15-08-2020
  • Date of Case Upload: 04-12-2020

Total Visitors : 2512018
© All rights Reserved - Atrocity Tracking and Monitoring System (ATM)
Website is Managed & Supported by Swadhikar