Total records:697

previous123456789...139140next

The Dominant People had deadly attack on Dalits and soaked in blood them

                                                       दलितों पर दबंगों का जानलेवा हमला


    घटना 25 अप्रैल 2020 की है . उक्त तिथि को पीड़ित गया राम , पिता - स्व० धरिक्षण राम , जाति अनु०जा० / चमार , ग्राम - भूसौलवा , थाना - केसरिया , जिला - पूर्वी चंपारण , राज्य - बिहार अपने दरवाजे पर बैठा था . उन्ही के पास उनका कुता भी बैठा था . उनके ग्रामीण आलोक कुमार ,पिता - दिनेश सिंह , जाति - सामान्य /भूमिहार उसी रास्ते अपना ट्रैक्टर ड्राइव करके लेजा रहा था . उसने पीड़ित के कूटा को कुचल डाला . पीड़ित द्वारा उसका विरोध किया गया . जिसको लेकर ट्रेक्टर चालक काफी गुस्सा में आगया . वह अपने घर गया और हरवे हथियार के साथ करीबी 10 की संख्या में पीडीत के दरवाजे पर आये और उसपर जान लेवा हमला बोल दिया . धारधार हथियार से प्रहार कर उसके सर फ़ोर दिया . भीच बचाव के लिए पीड़ित के पुत्र शम्भू राम एवं उनकी पत्नी पहुंची तो हमलावरों ने दोनों की बेरहमी से पिटाई की तथा जाति सूचक गालियाँ भी दिया . शम्भू राम का भी सर फोर दिया तथा उनके घरो में लूट पाट करने की बाते भी बताई गयी . मामले में केसरिया थाना में कांड सं ० 161/20 के तहत प्राथमिकी दर्ज कराइ गयी है . पुलिस मामले के प्रति सन्वेदनशील नही है . 


    हमलावर काफी दबंग एवं समृद्ध है . शाशन व् प्रशासन में उनकी पहुच पैरवी है . जबकि पीड़ित की सामाजिक व, आर्थिक एवं राजनीतिक दशा अच्छी नहीं है . 


     

  • Posted by: NDMJ-Bihar
  • Fact finding date: 05-05-2020
  • Date of Case Upload: 05-05-2020


Files

1) FIR 
2) case Brief 

Tortured Dalit Man

    On dated 4.4.2020 at approx. 11am victim Neeraj doing his duty at his room at PHC, yet accused Poonam(ANM) and security guard entered in the room and comment to victim that” you disturbed my home”. When victim Neeraj asked her that what he did then accused Poonam slapped to victim Neeraj. Victim Neeraj run away from the spot for his safety and reached at village sarpanch Manjit and told him all incidents. Sarpanch Manjit and Neeraj returned back to PHC where Sarpanch Manjit accepts that this incident is condemnable. Sarpanch trying to confess to accused Poonam that take oath of her children but accused Poonam refused to take oath. Then Sarpanch insured to victim Neeraj that nothing will be happened in the future.

  • Posted by: NDMJ-Haryana
  • Fact finding date: 22-04-2020
  • Date of Case Upload: 04-05-2020

POCSO, ATROCITY & 376 IPC

    The complnant shri.Maruti Gangadhar Jamdhane. Aged 39 yrs. R/o Velapur tal. Kopargaon dist. Ahmednagar. His minor daughter ku. Sakshi M. Jamdhade aged 9 yrs. She is studying in 4th std.in shri.chatrapati Sambhaji prathmik vidyalay. Gautamnagar tal.kopargaon dist. Ahmednagar.


    On 13/12/2019 at 17:00 ku.was watching her parents to receive her near her School .same time the Accused Amol Asho Nimase agd 19 yrs. Caste Maratha r/o Shirapur tal. Pathardi dist. Ahmednagar came there and told her that he was younger brother of her father and he will leave with her home and he took her on his Hero Honda CD Dawn MH 41 J-3033 . but instead of going to her home he goes to tees Shahajipur Shivar Taluka Kopargaon district Ahmednagar the farm of Chhaya Shivaji bonase . he broken the lock of farmhouse without the permission of owner. he pushed her into the room by intention to rape her . the accused started to hurt her and threaten her he pushed her breast . the accused bitten her mouth and lips then he removed her cloths and inner-ware.then he commited rape her.He gave inhuman treatment to her in whole night he also commited rape in multiple time during same night.and he forcefully manupalate the penis in her mouth.


    Accordingly, FIR was lodged against the accused on 14/12/2019 u/s 307,376(2)(K)(L)(N),363,366,366(A),342,326,452 of IPC and u/s 6 of POCSO Act as well as u/s 3(1)(W), 3(2)(5), 3(2)(5-a) of POA .


    Accused arrested.No bail granted till date.

  • Posted by: NDMJ - Maharastra
  • Fact finding date: 16-12-2019
  • Date of Case Upload: 29-04-2020

The injured Dalit youth was killed and half dozen injured in an attack on dalits by dominant people

                 दबंगों द्वारा किये गए जानलेवा हमला में जख्मी दलित युवक की मौत एवं आधा दर्जन से घायलों की हालत गंभीर 


                ---------------------------------------------------------------------------------------------------


    घटना दिनांक : 05-04-2020 की संध्या करीब 7.00 बजे घटित हुई . बतातें  है कि उस समय पीड़ित सुनील राम ,पिता - मोहन राम ,  उम्र करीब 25 वर्ष जो  ग्राम - अम्बेडकर नगर पोखरिया , थाना - चनपटिया , जिला - पश्चिमी चंपारण का अनुसूचित जाति (चमार) का सदस्य है . अपने गावं के नहर की पुलिया पर बैठा था . वहीँ पर उनके बगल के टोला पोखरिया राय के  1. शेख साबिरइ  . पिता - शेख हबीब , उम्र 25 वेश 2. शेख मजहर , पिता - शेख सलीम , उम्र 26 वर्ष ,3.लड्डू मियां , पिता - समसुद्दीन मियाँ उम्र 27 वर्ष जाति - मुस्लिम पहुँच गये और पीड़ित सुनील के मुंह पर सिगरेट पी पी कर उसका धुँआ फेकने लगा . इसी बात को लेकर विवाद हो गया . हल्ला सुनकर सुनील के पिता मोहन राम वंहा पहुचें और सुनील को घर बुलाकर ले आये . उसके कुछ ही देर बाद उक्त तीनो युवक अपने गांव गए और वहां से करीब 20 -25 लोगों के साथ हरवेहथियार से लैस होकर दलितों के घर पर हमला बोल दिया . कई राउंड गोलिया चलाई . लाठी , डंडा , लोहे के रेड , फरसा आदि से भी लोगो पर प्रहार किया .हमलावरों में उक्त तीनो के साथ साथ 4- पंकज चौधरी , पिता - सुरेश चौधरी 5. सिकंदर सह ,पिता मोहन साह 6. आसीन मिया ,पिता - दुखी मिया 7.मुस्तकिम मिया ,पिता - हरमहमद मिया 8. सलीम मिया ,पिता - हर्महमद मिया 9- शेख हबीब मिया ,पिता - शेख जुमराती मियां 10 .शेख हारून ,पिता - शेख हाफिज मिया और 20-25 की सं ० में अज्ञात लोग शामिल थे . उक्त जानलेवा हमला में सुनील राम पर फरसा प्रहार कर गंभीर रूप से जखमी कर डाला जिसके कारन PMCH पटना में इलाज के आभाव में उसकी मृत्यु हो गई . ढोढा राम के हाथ में गोली लगी है जो इलाजरत है .इसके अलावा मोहन राम , बासुदेव राम ,मिंटू राम सूरज राम प्रमोद राम आदि भी घायल है . हमलावरों द्वारा दलितों के घरो में भी लूट पाट किया गया . महिलाओ के साथ अभद्र व्यवहार किया गया .  घटना का पार्वती कारन एक प्रेम प्रसंग में एक अंतर जातीय विबाह होने की बाते भी परकाश में आरही है ,जो तनाव व् घटना का मुख्य कारन बताया जा रहा है . उक्त सन्दर्भ में चनपटिया थाना में कांड सं ० : 140/20 के हहत प्राथमिकी दर्ज की गई है . 03 प्राथमिक अभियुक्तों को गिरफतार कर जेल भेज दिया गया है . फिलहार घटना स्थल पर पोलिस कैम्प कर रही है . पीड़ित परिवार को किसी प्रकार का मुआबजा एवं आर्थिक सहायता प्रदान नहीं किया गया है .अभियुक्तों के परिवार के सदस्यों द्वारा मामले को सुलह करने के लिए दबाव बनाया जा रहा है . इंकार करने पर उसे भी बड़ी घटना को अंजाम देने की चमकियाँ की जा रही है . 


     

  • Posted by: NDMJ-Bihar
  • Fact finding date: 10-04-2020
  • Date of Case Upload: 11-04-2020


Files

1) FIR,news clippings ,jabti soochi 

Police is not registering FIR against attackers despite Dalit youth leaving village in fear of murder

                                    दलित परिवार पर जानलेवा हमला बोलने वालो के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज नहीं कर रही है पुलिस ,


                                                   ह्त्या की धमकियों के डर से गाँव छोड़ डाला दलित युवक  


    -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------


    घटना 29 मार्च 2020 को घटित हुई . पीड़ित कन्हैया राम , पिता -भूलन राम , उम्र करीब 27 वर्ष , जाति -अनुसूचित ( चमार )  , ग्राम -  ,थाना -बैकुंठपुर , जिला - गोपालगंज का निवासी है . पीड़ित अपने गावं में अपने बिरादरी का मात्र -तीन घर है , उक्त  गाँव में करीब २०० परिवार राजपूतों का है . राजपुर लोग इतना दबंग है की उनके डर से कोई बोलने का हिम्मत भी नहीं करता है . राजपूत बिरादरी के लोगो द्वारा ही पीडितो के साथ घटना को अंजाम दिया गया है l बताते है कि घटना के रोज पीड़ित अपने परिवार के सदस्यों के साथ लोकडाउन  के चलते अपने दालान पर कुर्सी पर बैठा था . उसी रास्ते राजपूत जाति के दबंग ग्रामीण - नीरज सिंह गुजर रहे थे . पीड़ित ने नीरज को देखते कुर्सी नहीं छोड़ी जिल्सको लेकर श्री  सिह पीड़ित पर आग बबूला हो गए और जाति सूचक गालिया देते हुए मर पिट करने पर उतारू हो गए .पीडितो द्वारा बिरोध करने पर उन्होंने अपने परिवार व पड़ोसियों को आवाज देकर बुला लिये और पीड़ित व् उनके परिवार के सदस्यों को बेरहमी से लाठी डंडा से पिटाई करने लगे . उनले घरेलु साम्मान कुर्सी , टेबल , चारा कटाने की मशीन एवं घर के छज्जा को क्षतिग्रस्त कर दिया . घट्न को अंजाम देने में नीरज सिंह के साथ साथ ajदीपक सिंह , हरेन्द्र सिंह , निप्पू सिंह सहित करीब एक दर्जन लोग शामिल थे . स्थानीय लोगो ने बीच बचाव कर मामला को शांत किया . नीरज सिंह एवं अन्य द्वारा केस करने पर जान मारा देने एवं झूठे मुकदमो में फंसा कर बर्बाद कर देने की धमकियां दी गयी . उक्त घटना का पूर्वती कारन भी काफी महत्त्व पूर्ण है . करीब 01 महीने पूर्व राजपूत वर्ग के एक व्यक्ति ने एक मोची को जूता मरम्मतe करने में देर हो जाने पर सरेयाम पिटाई की जा रही थी . पीड़ित ने उक्त मामले में जबरदस्त हस्तक्षेप किया . तथा उक्त मामले  में पीड़ित गवाह भी है जिसको लेकर राजपूत वर्ग के लोग पीड़ित को टारगेट कर चौका है . पीड़ित द्वारा अपने साथ घटित घटना की प्राथमिकी के लिय स्थानीय बैकुंठपुर थाना में आवेदन दिया गया पर अब तक प्राथमिकी दर्ज नहीं की गई है . जब बैकुंठपुर थाना में प्राथमिकी दराज नहीं की गैयी तो एससी / एसटी थाना गोपालगंज में आवेदन दिया गया पर वही भी प्राथमिकी दर्ज नहीं की गयी . आरिओपी इतना दबंग व् पहुँच पैरवी वाला है की पीड़ित की प्राथमिकी भी दर्ज नहीं होने दे रहा है . आरोपियों द्वारा थाना से आवेदन वापस लेलेने  का दबाव बनाया जा रहा है अन्यथा जान से मार देने की धमकियान दी जा रही है . डर के मारे पीड़ित गावं छोड़ दिया है . 


    u

  • Posted by: NDMJ-Bihar
  • Fact finding date: 10-04-2020
  • Date of Case Upload: 10-04-2020


Files

1) application of FiR and other 
previous123456789...139140next
Total Visitors : 1974397
© All rights Reserved - Atrocity Tracking and Monitoring System (ATM)
Website is Managed & Supported by Swadhikar