Total records:1268

Dominant People had launched a deadly attack on the Scheduled Castes and seriously injured them.

    घटना सूबे बिहार के सीतामढ़ी जिले के सोनवर्षा थाना क्षेत्र के रोहुआ गांव के वार्ड न० : ०२ की है।  पीड़ित श्यामजी राम एवं मुख्य आरोपी श्री सत्येंद्र कुअमार महतो दोनों उक्त गांव के ही निवासी हैं।  पीड़ितगन जहाँ अनुसूचित जाति के सदस्य है। उनकी माली हालत अत्यंत दयनीय है।  जबकि , आरोपीगण काफी दबंग ,बहुसंख्यक एवं धनि मानी व्यक्ति हैं।  दिनांक २३-०५-२०२३ को उक्त गांव के आरोपी श्री कुलदीप महतों की पुत्री कि शादी थी।  बाराती नाच - बाजा के साथ बारात लेकर बहू के दरवाजे पर पहुंचे।  दरवाजा लगाने के बाद आरोपियों के बिरादरी के लोगों ने नाच बाजा को पीड़ित के दरवाजे पर ले जाकर अश्लील गण बजवाया जाने लगा तथा अनुसूचित जातियों कि बहू बेटियों के साथ छेड़ छड़ करने लगा।  जिसका श्यामजी राम ,कुलदीप राम एवं अन्य द्वारा विरोध किया गया।  जिसपर आरोपी श्री सत्येंद्र कुमार महतो एवं उनके बिरादरी के  आधा दर्जन से अधिक  लोग हरावे हथियार से लैश होकरअनुसूचित जातियों पर सामूहिक रूप से हमला बोल दिया  दिया।  हमलावरों द्वारा चाकू से घोप घोप कर ुदीप राम , राहुल राम एवं सकल देव राम को गंम्भीर रूप से घायल कर डाला।  हमलावरों द्वारा अनुसूचित जातियों की महिलाओ के साथ भी अपमानजनक व्यव्हार किया गया।  उक्त सन्दर्भ में सोनवर्षा थाना में कांड सं० : १७८/२३ के तहत प्राथमिकी दर्ज की गयी है।  

  • Posted by: NDMJ-Bihar
  • Fact finding date: 11-06-2023
  • Date of Case Upload: 04-12-2023


Files

1) FIR 
2) Case Brief sonvarsa 
3) Fact finding 
4) Sp Sitamarhi 

Dominant people had stripped and beat the Dalit woman and urinated in her mouth.

    पीड़िता आशा देवी ,दो वश पूर्व अपने ही गांव के निवासी पिछड़ी जाति के सदस्य प्रमोद सिंह से बतौर कर्ज १५०० सौ रुपये लिए थे।  मालूम हो कि श्री सिंह गुंडा बैंक चलते हैं तथा गरीबों से मनमानी ब्याज वसूल किया करतें हैं।  पीड़िता ने कुछ ही दिनों बाद श्री सिंह  का कर्ज चूका दिया।  किन्तु , श्री सिंह ब्याज का पैसा बाकि गॉन का आरोप लगा कर पीड़िता से बतौर रंगदारी मोती रकम वसूल करना चाहता था।  पर , पीड़िता रंगदारी देने से इंकार कर दी।  श्री सिंह पीड़िता को पिछले दिनों रुपये नहीं देने पर बूरा अंजाम भुगतने का धमकी भी दिया था।  दिनांक २३-०९-२०२३ कि सुबह भी श्री सिंह एवं उनके गुर्गों द्वारा उपाए कि खातिर धमकी देकर आया था।  पीड़िता और श्री सिंह के बीच उक्त मुद्दे को लेकर सुबह में विवाद भी हुआ था।  श्री सिंह ने एक साजिश के तहत उक्त तिथि को रात्रि करीब १०-०० बजे पीड़िता को अपने दरवाजे पर बुलाया।  कहते हैं कि पीड़िता ज्यों ही उसके दरवाजे पर पहुंची त्यों ही श्री सिंह एवं अन्य ने पीड़िता के साथ जाति सूचक गांलिया देना शुरू कर दिया।  श्री सिंह एवं अन्य द्वारा उसे पूरी तरह नग्न कर दिया गया और उसके बेरहमी से पिटायी ढ गयी।  श्री सिंह के कहने पर उनके पुत्र अंकुश कुमार द्वारा उनके मुंह में पेशाब कर दिया गया।  उक्त समबन्ध में खुशरूपुर थाना मने दिनांक : ४१६/२३ के तहत प्राथमिकी दर्ज कि गयी है।  मालूम हो कि पीड़िता अनुसूचित जाति कि सदस्य है जबकि आरोपी पिछड़ी जाति के सदस्य है तथा काफी दबंग एवं जुल्मी व्यक्ति है।  शासन , प्रसाशन में उनकी पकड़ है।  

  • Posted by: NDMJ-Bihar
  • Fact finding date: 27-09-2023
  • Date of Case Upload: 03-12-2023


Files

1) FIR khusarupur 
2) FF khusarupur 
3) News clipping khusarupur 

दलित के साथ मारपीट व उसकी ज़मीन पर जबरन कब्ज़ा at Bangarh

                   यह घटना जिला ऊना की पंचायत वनगढ़ की है यह पंचायत गांव जिला मुख्यालय से लगभग 10 कि०मी० की दूरी पर है इस पंचायत में जखेड़ा गांव आता है इस गांव में दलित समाज की काफी घनी आबादी है इस आबादी में से कुछ दलित परिबारो को सरकार ने इंदिरा अबास योजना के तहत सन 1974-75 में घर परती हर दलित परिबार को कुल 10 कनाल 10 मरले ज़मीन दी ज़मीन लेने बाले कुल 60 परिबार थे पहले तो दलित समाज में से किसी भी परिबार ने अपनी मिली हुई ज़मीन के बारे नही सोचा क्योंकि यह ज़मीन जंगल में आती है धीरे धीरे सभी ने अपनी ज़मीन को सवारना शुरू किया और खेती के लिए उपजाऊ बनाया. वनगढ़ व जखेड़ा साथ ही गांव भटोली है जिसमे अनुसूचित जाति में से रमेश चन्द स्पुत्र गरीब दास रहता है जो की चमार जाति से सम्बन्धित है.  रमेश चन्द के पिता गरीब दास को भी इंदिरा अबास योजना के तहत सन 1974-75 में 10 कनाल 10 मरले भूमि मिली है. जिसको की अब गरीब दास के गुजर जाने के बाद रमेश चन्द ही देख रहा है. रमेश चन्द ने भी अपने परिवार सहित मिलाकर इस बंजर व् जंगली भूमि को सवार कर खेती के काबिल बनाया है रमेश चन्द ने पिछले वर्ष इस भूमि पर एक सामान रखने के लिए कमरा बनाया. लेकिन जब नबम्बर 2023 में रमेश चन्द ने अपना मकान इस ज़मीन पर बनाना शुरू किया तो इसकी ज़मीन के साथ ही रामकिशन स्पुत्र मुंशी जाति राजपुत का घर है दिनाक 12.11.23 को जब रमेश चन्द अपनी जमीन में मकान बनाने का काम मिस्त्री मजदूरों से करवा रहा था तो मौका पर रामकिशन व् उसका बेटा संजू आ गये और रमेश चन्द को गाली निकालने लगे और कहने लगे की यह ज़मीन उनकी है जबकि रमेश चन्द ने बताया की यह ज़मीन उसकी है और उसके पास ज़मीन के पुरे दस्तावेज भी हैं. इतने में रामकिशन बोला की “तू सालेया चमारा हुण साडे सिर पर बैठेगा” और इतना कहते ही रामकिशन व् उसके बेटे संजू ने रमेश चाँद के साथ बुरी तरह से मारपीट करनी शुरू कर दी और दोनों ने मारपीट करते समय लाठी से रमेश चन्द की की दाहिनी वायू को तोड़ दिया और फ्रेक्चर कर दिया जिस पर रमेश चन्द ने थाना मेहतपुर में अपनी शिकायत दर्ज करवाई पर अभी तक दोषियों खिलाफ कोई कार्यवाही अम्ल में ना लाइ गई है. दोषी रामकिशन व् उसके बेटे ने जबरन रमेश चन्द की ज़मीन को जाने वाले रास्ते में ट्राली से पत्थर फेंक दिए है और रमेश चन्द के आने जाने का रास्ता भी बंद कर दिया है.

  • Posted by: NDMJ - Himachal Pradesh
  • Fact finding date: 02-12-2023
  • Date of Case Upload: 03-12-2023

Images

   

Files

1) FIR PDF 

Dominant people brutally murdered a scheduled caste mango businessman

    Let it be known that the deceased Shivnath Ram was into mango business. He had bought a mango orchard in Parsuni Rais, a hamlet adjacent to his village. The deceased belonged to Scheduled Caste. Due to which other people were jealous of him. There was a poultry farm of landlord Siyaram Thakur there. Where the deceased used to sleep every day. He went to the adjacent Chapa Kal at around five in the morning on 02-07-2023 to get water. Where a dispute broke out between Ujjwal Kumar Thakur, Nanhe Thakur and Ganesh Thakur due to certain reasons.The above three brutally beat Shivnath Ram to death. Even though the immediate cause of the incident is said to be taking water from Chapa yesterday. But, there is a serious reason behind the incident. It is said that wrongdoing was done by the accused. The deceased had previously warned those people from doing wrong things. Due to which there was already enmity between the accused and Shivnath Ram.

  • Posted by: NDMJ-Bihar
  • Fact finding date: 09-07-2023
  • Date of Case Upload: 02-12-2023


Files

1) case Bref 
2) Sahebganj Murder 

Dominant people had deadly attack on Dalits, the injured youth died.

    On 27-02-2023, the victim Nagendra Das had gone to his neighboring village Bahuara Raghuvansh for some work. In front of their eyes, Nandan Singh/Aman Singh, resident of Bahura village, crushed two goats of rural Binda Giri with their Apache motorcycle. Shri Das could not tolerate injustice. He ran and stopped Mr. Singh's motorcycle. An attempt was made by Mr. Singh to crush Mr. Das also. There was an altercation between Mr. Singh and goat owner Binda Giri regarding the incident. Mr. Singh wanted to run away on a motorcycle.Mr. Das took away the keys of Mr. Singh's motorcycle due to which he became very angry and Rajputana went to his home in a rage, speaking nonsense. He did not even pay the price of Binda Giri's goat. On the said date itself, in the evening, Shri Singh along with his 10-15 supporters, armed with every weapon, attacked Shri Das's house. Everyone brutally beat Mr. Das, his wife Sushila Devi and his only son Ankit Kumar, aged 17, with iron rods, sticks and rods. Ankit was seriously injured.Ankit Kumar died during treatment 18 days after the incident.

  • Posted by: NDMJ-Bihar
  • Fact finding date: 22-03-2023
  • Date of Case Upload: 01-12-2023


Files

1) FIR 
2) FF 
Total Visitors : 6232000
© All rights Reserved - Atrocity Tracking and Monitoring System (ATM)
Website is Managed & Supported by Swadhikar