Madhaha and trees, plants and straw kept on the leased land, burn the tati in Holika and also gave Abuse in caste words. (Code: UP-62 JNP-35, Date: 17-Mar-2022 )

Back to search

Case Title

Case primary details

Case posted by Bhartiya Jan Sewa Ashram
Case code UP-62 JNP-35
Case year 17-Mar-2022
Type of atrocity SC/ST (POA) Act
Whether the case is being followed in the court or not? No

Fact Finding

Fact finding date

Fact finding date Not recorded

Case Incident

Case Incident details

Case incident date 17-Mar-2022
Place Village: Not recorded
Taluka:Not recorded
District: JAUNPUR(DP)
State: Uttar Pradesh
Police station Sujanganj
Complaint date 17-Mar-2022
FIR date 18-Mar-2022

Case brief

Case summary

गरीब दलित रामहित पुत्र स्व0 रामफेर जो कृषि किसानी करके अपना व अपने परिवार का भरण पोषण करता है दिनंाक-18.3.2022 को रात्रि को 21 बजे पट्टे की जमीन मे रखी मडही व पेड पौधा व पतरा रखकर पिछले कई वर्षो से कब्जा किये है जिसमें उनकी पत्नी गीता देवी घर से खाना बनाकर अपने पति रामहित को रात्रि 9ः00 बजे खाना खाने के लिये बुलाने गई तो देखी गांव के ओमप्रकाश पुत्र राम बहाल सिंह, कृष्ण गोपाल उपाध्याय पुत्र स्व राम उपाध्याय, धर्मराज यादव पुत्र बद्री यादव पुत्र राम खेलावन यादव गोलबंद होकर आये थे मेरे मडहे की टाटी व रखा पुआल को लेकर होलिका में डाल दिये इसके बाद मडहा ले जाने की कोशिश कर रहे थे तो हम दोनो पति पत्नी इसका विरोध किये तो उक्त दबंगो ने जाति सूचक शब्दो में गाली देते हुये मेरे पति को लात घूसो व डंडो से पीटाई कर दी और जान माल की धमकी देते हुये चले गये। इसके बाद उक्त लोगो ने पुलिस को फोन करके घटना से अवगत कराया कुछ समय बाद 10 संे 12 पुलिस मेरे घर आये और उल्टा सीधा बोलने लगे और कहा कि तुम लोग नकल बनाये हो जो दवा के लिये चिल्ला रहे हो कहां चोट लगी हैै और होलिका नही जलाने दे रहे हो व मार-पीट कर रहे हो इतना बोलकर जाने लगे तभी दरवाजे पर खडी पल्सर मोटर साइकिल उठा ले गये और बोले की मोटर साइकिल चोरी की है जो कि पास के गांव के लोग से ही खरीदे थे बस ये था कि उसका हस्तांतरण नही हुआ था फिलहाल जिसकी बाईक था वो थाने से उठा लाये और मुम्बई चले गये बात करने पर बोले की लौट कर आते है तो आप बाईक को आप अपने नाम से हस्तांतरण करा लिजिए पीडित परिवार दो बजे रात्रि को 108 नं0 एम्बूलेंश को फोन करके बुलाये और अस्पताल गये। अस्पताल में गीता देवी व उनके पति रामहित को दवाइयां दी गई उसके बाद गीता देवी को भर्ती कर लिया गया और हस्पिटल में पहंुची पुलिस पीडित रामहित को थाने उठा ले गई उनके ऊपर मुकद्दमा दर्ज बंद कर दिया। दिनांक-19.3.2022 को दोपहर को उनका चलान तहसील मछली शहर में कर दिया गया चैविस घंटे बाद पीडित जमानत करवा कर घर वापस आये। 

Total Visitors : 3299358
© All rights Reserved - Atrocity Tracking and Monitoring System (ATM)
Website is Managed & Supported by Swadhikar