TO BURY THE BODY OF A PERSON BELONGING TO A SCHEDULED CASTIN A PUBLIC CEMENTRERY (Code: MH-22-8-2021, Date: 20-Aug-2021 )

Back to search

Case Title

Case primary details

Case posted by NDMJ - Maharastra
Case code MH-22-8-2021
Case year 20-Aug-2021
Type of atrocity Obstructs or prevents using common property resources of an area, or burial or cremation ground, any river, stream, spring, well, tank, cistern, water-tap or other or any bathing ghat, road or passage
Whether the case is being followed in the court or not? No

Fact Finding

Fact finding date

Fact finding date Not recorded

Case Incident

Case Incident details

Case incident date 20-Aug-2021
Place Village: Not recorded
Taluka:Not recorded
District: SOLAPUR (DP)
State: Maharashtra
Police station AKLUJ
Complaint date 20-Aug-2021
FIR date 20-Aug-2021

Case brief

Case summary

: विमल सुरेश साठे उमर 45 वर्ष अपनी पती सुरेश लडका किरण मिथुन बहु माधवी और अर्चना और अपने नवासो के साथ मे सोलापुर जिले के मालेगाव बोरगाव गाव मे अपने परिवार के साथ रहती है!उनके साथ मे उनके देवर धनाजी आनंता साठे जिन की शादी नही हुई थी वो भी उनके साथ मे रहते है! 20 ऑगस्ट 2001 को बीच रात मे दो बजे धनाजी साठे इन का देहांत हो गया! अंतिम संस्कार के लिए लगने वाली लकडी खरीदने के लिये विमल का बेटा मिथुन-राजू माळी इनके यहा गया, तो राजू माळी ने लकडी देने से इंकार कर दिया! तब मिथुन ने पास के गाव खंडाळी से लकडी खरीद कर लाई! और सुबह 10:30 मिनिट को अंतिम संस्कार कराने गांव के सार्वजनिक समशान में ले जाने लगे. जिस टेम्पो से लकडी खरीदकर लाये थे उसी टेम्पो में धनाजी का शव राखा हुआ था! समशान को जाने वाले रास्ते में गाव के उच्च जाती के 1) रवींद्र शहाजीराव पाटील.2) गजेंद्र भीमराव पांढरे,3) संभाजी नाथाजी कुदळे,4) जयराम मच्छिन्द्र कुदळे,5) राहुल शिवाजी कुदळे 6)चंद्रकांत मारुती पांढरे,7) भगवान बाबुराव कुदळे 8) विनायक शिवाजी कुदळे 9) प्रवीण मधुकर कुदळे 10) subhash सदाशिव पांढरे 11) संदीप भगवान कुदळे 12) अमोल दत्तात्रय कुदळे, 13 रामचंद्र मच्छिन्द्र पांढरे इन सभी लोंगो ने बीच रास्ते में रुककर अंतयात्रा रोकी और पाच महिने पहले विमल के दुसरे देवर दशरथ और देवराणी राणी इन्हाने गाव के विनायक शिवाजी कुदळे, राहुल शिवाजी कुदळे, नवनाथ विष्णू पांढरे, विजया शिवाजी कुदळे इनके खिलाफ़ अकलूज पोलीस स्टेशन का शिकायत दर्ज करायी थी तो ओ शिकायत पीछे लेने के लिये दबाव बनाने लगे! इन लोंगो का कहना था की आप पहले की शिकायत तुरंत वापस ले लिजिए वरणा हम हमारे खेतोसें समशान में जानेके लिये रास्ता नाही देंगे और वैसे भी तुम जैसे नीची जाती के (मांग ) लोंगोनको हम हमारे खेतो से नाही जाने देंगे! विमल के परिवार के सभी लोंग और रिश्तेदार उन उन्मत लोंगोसे हातपैर जोडकर बिनती करते रहे पण उन लोंगोने कुछ ना सुनी!
उसके बाद विमल ने जाके अकलूज पोलीस ठाणे में शिकायत दर्ज करायी लेकिन पोलीस वहा आने के बाद भी पोलीस भी उनके साथ सामील हों गई और उनकी मदत करणे लगी तब जाकार रात के 10 :00बजे के बाद में विमल के परिवार वालोंने निर्णय कर के गावं के पंचायत कार्यालय के सामने मृत व्यक्ती धनाजी पे अंतिम संस्कार किये.

Total Visitors : 2816971
© All rights Reserved - Atrocity Tracking and Monitoring System (ATM)
Website is Managed & Supported by Swadhikar