Total records:924

previous123456789...184185next

false cases against dalits

    बुरहानपुर जिले की नेपानगर तहसील के ग्राम तांदली हिंगना रैयत में निवास करने वाले दलित परिवारों ने सामुहिक आवेदन पत्र देकर गांव के दबंग चंपाचाल जैसवाल और उसके साथियों पर जान से मारने की धमकी देकर थाने में झूठी रिपोर्ट दर्ज कर फंसाने का आवेदन दिया है। पीड़ितों का कहना है कि - गांव में सैकड़ों सालों से छुआछूत, जातिगत भेदभाव चला आ रहा है, उनके गांव तांदली में  लगभग सौ सालों से एक कुआं है जिसका पानी सभी लोग पीने के लिये करते थे, लेकिन दलित वहां का पानी नहीं ले सकते थे। कुछ सालों पहले कुछ दलितों ने वहां से पानी लेना शुरु किया तो उंची जाति वालों ने कुएं को अछूत घोषित कर वहां से पानी लेना बंद कर दिया। समय के साथ कुएं का पानी सूखने लगा तक सवर्णों ने उस कुएं में कचरा डालने लगे। कुआं बंद हो गया तब दलितों ने वहां पर चबूतरा बना कर बाबा साहब की फोटो रख कर हर साल बाबा साहब की जयंति मनाने लगे। और उसी जगह पर एक स्वागत द्वार भी बना लिया।


    27 अप्रैल 2021 को आरोपी चंपालाल ने गांव की नवसाबाई पति भुरेखा को उकसा कर स्वागत द्वार तोड़ दिया और विरोध करने आई दलित महिलाओं को जातीसूचक गालियां देकर जान से मारने की धमकी दी। इसके बाद वह नेपानगर थाने गया और वहां पर पुलिसकर्मियों को रिश्वत देकर दलितों के विरुद्ध झूठी रिपोर्ट दर्ज करा दी। तत्कालीन थाना प्रभारी लोवंशी द्वारा आईपीसी की धारा 147,148,149,294,323,506 बी का प्रकरण  दर्ज किया गया। पीड़ितों ने प्रशासनिक अधिकारियों से निवेदन किया कि मौका मुआयना कर निश्पक्ष जांच करे लेकिन आज तक पीड़ितों की कोई सुनवाई नहीं हुई है।

  • Posted by: NDMJ
  • Fact finding date: 07-06-2021
  • Date of Case Upload: 23-07-2021

Images

         

Dalit Polaram Murder

    Case details is not available
  • Posted by: Centre for Dalit Rights
  • Fact finding date: 18-09-2020
  • Date of Case Upload: 23-07-2021

Custodial Murder

    Jitendra Khatik's son Tarachand Khatik on 26th February, 2020 at around 12.00 am under the auspices of the police officer in compliance with the direction of the Superintendent of Police, after arresting the deceased from the Jodhpur shop on the pretext of making false and false inquiries for buying iron oil pipes. he was taken and inhuman torture and beaten and was confessed to confessing the crime and kept in illegal custody for 24 hours and was subjected to severe beatings and torture by the police which led to his death in police custody.

  • Posted by: Centre for Dalit Rights
  • Fact finding date: 02-03-2020
  • Date of Case Upload: 23-07-2021

Attack on Dalits

    Case details is not available
  • Posted by: Centre for Dalit Rights
  • Fact finding date: 17-04-2020
  • Date of Case Upload: 22-07-2021

Sexual Abuse with dalit girl in Ajmer

    Case details is not available
  • Posted by: Centre for Dalit Rights
  • Fact finding date: Not recorded
  • Date of Case Upload: 22-07-2021

previous123456789...184185next
Total Visitors : 2669841
© All rights Reserved - Atrocity Tracking and Monitoring System (ATM)
Website is Managed & Supported by Swadhikar