Total records:924

Dominant people attacked the Dalit tola and seriously injured half a dozen Dalits and killed a young man.

       दबंगों ने हरवे हथियार से  लैश हो कर दलित टोला पर हमला बोल एक युवक की हत्या कर दी और आधा दर्जन को जख्मी कर डाला 


    --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------


    सूबे बिहार के पश्चिमी चंपारण जिले के मझौलिया क्षेत्र के  अहवर कुडिया ग्राम निवासी अनुसूचित जाति सदस्य मनोज राम , पिता - भूखल राम  कानून में विश्वाश करने वाला एक सीधा साधा व्यक्ति है . उनका खेत स्थानीय धनौती नदी के तट पर स्थित है . वाही दूसरी तरफ पुर्वी चंपारण जिले के पहाड़पुर थाना क्षेत्र स्थित उतारी नोनिया निवासी  असेसर सहनी , रामजी सहनी , वीर सहनी , सभी के पिता स्व० धरमन सहनी ये लोग  अति पिछड़ी जाति के सदस्य है , मछली का व्यवसाय करते है . ये लोग असामाजिक तत्व से सम्बंद्ध व्यक्ति है . सहनी लोगो द्वारा धनौती नदी के मछली का ठेका लिया है .


    दिनांक 09.06.2021 को  मनोज राम अपनी पत्नी सीमा देवी एवं भतीजा रंजन राम के साथ धनौती  नदी किनारे स्थित  अपने खेत  में घास काट रहे थे . इसी क्रम में  असेसर सहनी  वहां पहुच गए और उक्त लोगो पर मछली चोरी करने का आरोप लगते हुए गाली गलौज करने लगे . मनोज राम एवं अन्य लोगों द्वारा विरोध किया गया  जिससे विवाद और अधिक बढ़ गया . असेसर सहनी द्वारा फोन पर उल्टा सीधा कहकर अपने परिवार एवं पडोश के लोगों को सूचना देकर बुलाया .जब तक मनोज राम ,उनकी पत्नी एवं भतीजा तीनो घर चले आये . कुछ ही देर में 06-07 मोटर साइकिल पर स्वर होकर 09 की संख्या में हरवे हथियार से लैश होकर दलित टोला पर हमला बोल दिया  जिसमे सिकंदर राम के पुत्र सिद्धांत कुमार करीब 16 वर्ष को लोहे के रेड एवं लाठी से इतनी पिटाई की गयी कि वह इलाज के दरम्यान ही दिनांक : 10.06.2021 की रात्रि दम तोड़ दिया . वही हलावारों ने राकेश राम , रंजन कुमार , शिवम कुमार , राजकुमार एवं नरेश राम पर प्रहार कर गंभीर रूप से जख्मी कर डाला . 


    उक्त सन्दर्भ में मझौलिया थाना में कांड संख्या : 315 dt 09-06-2021 ,U/S 147,148,149,323,324,504,506 IPC & 3(i)(r)(s)SC/ST Act. के  तहत 1. असेसर सहनी 2 रामजी सहनी 3.वीर सहनी 4. राहुल सहनी 5. परदुमन सहनी 6. लालू सहनी 7. बीरा सहनी 8.  आनंद सहनी 9. आकाश सहनी के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज की गयी है .  पुलिस द्वारा मामले के प्रति व्यापक स्तर पर लापरवाही बरती जा रही है . 

  • Posted by: NDMJ-Bihar
  • Fact finding date: 16-06-2021
  • Date of Case Upload: 20-06-2021


Files

1) FIR 
2) complain petition 
3) court doccument 

Dalit youth assaulted. tear clothes. garland shoes slippers

    पीड़ित राजकुमार मेहरा उम्र 20 वर्ष और महेंद्र मेहरा उम्र -20 वर्ष  निवासी  ग्राम बुढ़वानी, पंचायत - दामन खम्हरिया, पोस्ट चरगंवा जिला - जबलपुर। 


    गोटेगांंव में रह कर कालेज कर रहे बुढ़वानी निवासी राजकुमार के रिस्तेदार दामन खम्हरिया में रहते हैं जिसकी वजह से उसका वहां अक्सर आना जाना रहता था। इसी बीच  उसकी दोस्ती दामन खम्हरिया निवासी कक्षा 11 वीं में पढ़ने वाली प्रिया यादव से हो गई। 19 मई 2021 को राजकुमार का अपने दोस्त महेंद्र मेहरा के घर जाना हुआ तब दामन खम्हरिया में युवती प्रिया यादव से हुई जहां युवती ने उससे कहा कि उसे कहीं बात करने के लिये एक मोबाईल की जरुरत है, तब राजकुमार ने अपने दोस्त महेंद्र मेहरा का जिओ कंपनी का मोबाइल युवती को दे दिया। और अपने घर वापस आ गया। तीन दिन तक सब सामान्य था। 22 मई 2021 को सुबह लगभग 11 बजे   राजकुमार के घर युवती के चाचा और फूफा आये और राजकुमार को अपने साथ चलने के लिये कहा। राजकुमार बिना किसी झिझक के उनके साथ चला गया।  जब वे सब युवती के घर पहुंचे तो वहां पर महेंद्र पहले से था, जिसे बांधा गया था। युवती के परिजनों ने राजकुमार और महेंद्र पर मोबाइल फोन देकर बहलाने - फुसलाने और प्रेम प्रसंग का आरोप लगा कर मारपीट शुरु कर दी। दोनों युवकों के कपड़े फाड़  दिये और सिर के आधे बाल भी सफा कर बेइज्जत किया। इस बीच युवती के परिजन मारपीट और जातीसूचक गालियां भी दे रहे थे। राजकुमार और महेंद्र ने अपनी सफाई दी, मोबाइल देने की गलती भी मानी और सबके पैर पकड़ कर माफी भी मांगी लेकिन वे लोग दोनों युवकों को जलील करते रहे  जिसकी विडियो भी बनाते रहे। 


    युवती के परिजनों ने बंधक बनाये युवकों के गले में जूते चप्पलों की माला पहना दी, इतना सब करने के बाद मोबाइल से विडियो भी बनाई। विडियो बनाते हुए युवती के  फूफा और चाचा धमकी दे रहे थे कि विडियो को वायरल कर देंगे, थाने में बंद कर पिटवायेंगे। कहीं मुह दिखाने के लायक नहीं छोड़ेंगे। इतना ही नहीं युवती के परिजनों ने युवती के साथ भी मारपीट की और माला पहनाई। 


    राजकुमार के बहुत देर तक घर वापस नहीं आने पर उसके पिता युवती के घर गये तो वहां राजकुमार और महेंद्र को लगभग नग्न और घायल अवस्था में पाया। दबंगो से वे भी अपमानित हो कर राजकुमार और महेेंद्र को छुढ़ा कर लाये। घर पर राजकुमार के दादा की तबियत पहले से खराब थी। जिसकी वजह से उन्होने किसी को कुछ नहीं बताया। मानसिक रुप से परेशान राजकुमार घर छोड़ कर कही चला गया। तब युवती के परिजनों ने राजकुमार के साथ मारपीट,कपड़े फाड़ कर जूते चप्पलों की माला पहना कर बेइज्जत करने वाली विड़ियो को वायरल कर चुके थे।  28 मई 2021 को उसके दादा का देहांत हो गया तब वह घर आय़ा। दूसरे दिन 29 मई को परिजनों से सलाह कर थाने मेें रिपोर्ट दर्ज कराने की तैयारी में था तभी थाना चरगंवा से भी वि़डियो वायरल होने के संबंध में फोन आ गया। रात लगभग 9 बजे  राजकुमार के साथ घटित घटना की एफआईआर दर्ज की गई और चारो आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया। 


     

  • Posted by: NDMJ
  • Fact finding date: 04-06-2021
  • Date of Case Upload: 17-06-2021

Images

   

Files

1) FIR Copy 
2) Accuse application copy 

Pandab Behera Murder of Deypur Sasan village under Delang PS, Dist- Puri, Odisha

    The victim Pandab Behera is a poor person form SC community. His profession is to climb Coconut trees and similar trees. He was resident of Deypur Sasan Dalit Sahi adjacent to a Brahman Sahi. The Brahman sahi consists of more than 100 Households whereas the dalit sahi was inhabited by 15 dalit families belonging to Bauri Sub-Caste. There was a by election in Pipili Assembly Constituency of which Deypur Sasan is a part. One Ramesh Sarangi had given Rs- 5000/- to Pandab on 11.04.2021 to get the votes of the dalit Sahi in favour of BJP Candidate. Pandab when discussed the matter in his Sahi, others disagreed to vote BJP. Pandab went back to return the money to Ramesh. But by that time he had already spent 1000/- and had taken liquor. When he returned Rs- 4000/- to Ramesh Sarangi, he was abused by Ramesh. It was a challenge to the social authority and dominance not to obey the instructions to vote to the particular candidate; the amount given was for a common feast in the sahi. When Ramesh Sarangi abused, Pandab protested without acting subdued. Ramesh started assaulting Pandab; other two accused persons also beat him black and blue. In the beating Pandab sustained injuries. He took some medicine from the local medicine counter taht day. On the next day, he felt uneasy and went to his in law’s house at Puba Sasan and consulted doctors at Balakati. On 14th he was serious, taken to Capital Hospital where he died. He is survived by wife Banita, son Rakesh and daughter Lipsa.

  • Posted by: Ambedkar Lohia Vichar Manch
  • Fact finding date: 14-04-2021
  • Date of Case Upload: 16-06-2021

Images

       

Laxmidhar Naik Murder Case at Barapada village of Delanga PS, Puri

    Laxmidhar Naik, S/o- Late Bauri Bandhu Naik, aged about 74 years lived with wife Kanak Naik, aged 70 years and two sons Prafulla Naik & Pradip Naik. He is a retired employee of Indian Railways. He is of very calm and quiet attitude. The house of Kelu Maharana aged about 62 years S/o- Jogendra Maharana is situated adjacent to the house of Laxmidhar Naik. There were many occasions of verbal duel between the two families due to putting garbage in the campus of Laxmidhar Naik by Maharana family, but it never went to Police. On 18.04.2021 again Maharanas threw garbage including egg cover and vegetable skin in the campus of Laxmidhar Naik. This was protested by the Naiks. Binod Moharana, S/o Kelu Maharana got angry and rushed into the house of laxmidhar Naik, abused him with slangs aspersing caste name, assaulted him with a shaft and pushed him hard so that Laxmidhar fell down. He also assaulted the women folk who come to rescue Laxmidhar. Laxmidhar sustained bleeding head injury and was taken to Hospital at Jatani. From there he was referred to AIIMS, Bhubaneswar. At AIIMS, Bhubaneswar there was no bed vacant, hence referred to SCB Medical College Hospital, Cuttack, where he succumbed to the injury. Basing on the written complaint of Pradip, (Son of Laxmidhar) the written FIR No 93 was registered.                                   

  • Posted by: Ambedkar Lohia Vichar Manch
  • Fact finding date: 19-04-2021
  • Date of Case Upload: 16-06-2021

Images

                 

Occupying Dalit woman

    दिनांक 1 जून सुबह 11 बजे फरियादी सुनीता हिरवे की दादी सीताबाई पति दल्या हिरवे उम्र 85 वर्ष अपने प्लाट में सूखी लकड़ियां बीनने गई थी जहां पर प्लाट से लगे हुए खेत के मालिक दीनेश ठाकुर द्वारा लकड़ी बीनने से मना कर धक्का देकर गिरा दिया। जातिसूचक गालियां देकर प्रताड़ित करने लगा, उसके साथ उसका 19 वर्षीय बेचा हीतेश ठाकुर और पत्नि लाड़कुवर बाई भी आकर सीताबाई को गालियां देने लगे। आवाज सुनकर सुनीता हिरवे अपनी दादी का बचाव करने गई तो उसके साथ भी आरोपियो ने गंदी गंदी जातीसूचक गालियां देकर मारपीट की। पिता नाहरू हिरवे के साथ भी आरोपियों ने धक्कामुक्की की। जिसके बाद पीड़िता थाने में रिपोर्ट लिखवाने मंडलेश्वर गई, लेकिन वहां के पुलिसकर्मियों द्वारा रिपोर्ट नहीं लिखी गई। और आरोपियों का पक्ष लेकर दबाव बनाया जाने लगा। फरियादी पीड़िता सुनीता हिरवे को बार बार लिखित में आवेदन देने का कहा जाने लगा। तब वे अपने समाजजनों के साथ एसपी आपिस पहुंची और वहां पर मंडलेश्वर थाने में शिकायत दर्ज ना किये जाने की शिकायत की। एएसपी ने कहा कि शिकायत दर्ज हो जायेगी। तब वे मंडलेश्वर थाने आये लेकिन फिर भी शिकायत दर्ज नहीं की गई। बल्कि सुनिता हिरवे पर झूठी शिकायत करने का आरोप लगाते रहे। सुनीता अपने समाजजनों के साथ रात 11 बजे तक थाना मंडलेश्वर में रही लेकिन शिकायत दर्ज नहीं की गई। 


    घटना और पुलिस प्रशासन के रवैये से  दुखी सुनीता हिरवे की रिपोर्ट दर्ज कराने के लिये जिले भर के बलाई समाज संगठन के लोग प्रशासन को ज्ञापन देने लगे। समाचार पत्र, शोसल मीडिया पर सनीता हिरवे की शिकायत दर्ज करने के लिये पोस्ट की जाने लगी लेकिन मंडलेश्वर थाने में एफआईआर दर्ज नहीं की गई। इस बीच आरोपी दीनेश ठाकुर के मात्र आवेदन पर शिकायत दर्ज मामले की जांच कर सुनीता हिरवे को दबाव बनाया गया। 


    हर जगर शिकायत पत्र देने के बाद 12 जून 2021 को सुनीता हिरवे की शिकायत पर एफआईआर दर्ज की गई, लेकिन आरोपियों पर अभी तक कोई कार्रवाई नही की गई।

  • Posted by: NDMJ
  • Fact finding date: 05-06-2021
  • Date of Case Upload: 15-06-2021

Images

             
Total Visitors : 2669835
© All rights Reserved - Atrocity Tracking and Monitoring System (ATM)
Website is Managed & Supported by Swadhikar