Total records:846

Caste Abuse and Assault on Dalit Women in Alipur Village of Barshi -Solapur

    On dated 28/01/2021, six ccused belonging to maratha community viz. Fakira Kadam, Jay lokhande, Sudhir Lokhande, Viky Kadam, Dasharath Kadam and Sambhaji Kadam assaulted and abused on caste to dalit woman Rekha Kasabe for the reason of earlier dispute between the son of victim and accused. 

  • Posted by: NDMJ - Maharastra
  • Fact finding date: 31-03-2021
  • Date of Case Upload: 21-04-2021


Files

1) FF 
2) Letter of SP 

Gang Rape with Dalit girl under an village of shahpur Ps ( Bhojpur District)

    दलित बालिका के साथ सामूहिक बलात्कार 


    सूबे बिहार के भोजपुर जिले के शाहपुर थाना क्षेत्र के वीरपुर गांव के अनुसूचित जाति सदस्य श्री सुरेश राम की 16 वर्षीया पुत्री फूलकुमारी को  दिनांक 29.03.2021 को पूर्वाहन करीब 11. 30 बजे शौच के लिए सरेह में गयी थी . उससे अकेली देख गांवं के ही युवक शशी महतो , अभिबावक का नाम अन्गातईत महतो का भगिना उम्र करीब 22 वर्ष ,जाति - पिछड़ी (कुर्मी) एवं ग्रामीण गोरख महतो , पिता भिखारी महतो ,उम्र करीब -23 वर्ष , जाति कुर्मी दोनों मिलकर पीडिता फूलकुमारी को अपने मोटर साइकिल पर जबरन बैठा लिया और शिवपुर गाँव के सरेह में ले गया . वहां पंहुच कर दोनों ने अपने ही गांव के अपनी ही जाति के तीन हम उम्र लडको को फोन कर बुला लिया और सभी बारी बारी से बालिका के साथ सामूहिक रुपे से बलात्कार किया . हब्स के दरिन्दे द्वारा  जिस खेत में घटना को अंजाम दिया जा रहा था . उस खेत का मालिक वहा पहुच कर पीडिता को हब्सियों से छुड़ाना चाहा तो अपराधियों द्वारा उनके साथ भी मार पिट की गयी . घटना को अंजाम देकर भाग गए . 


    पीडिता सड़क पर बैठ कर रोने लगी . घटना की सूचना प् कर पीडिता के परिवार वाले आये और घर बुलाकर ले गए . उसके बाद पीडिता के साथ शाहपुर थाना जा कर पुलिस को घटना से अवगत कराया . पर पुलिस द्वारा मामले के प्रति व्यापक स्तर पर उदासीनता बरती जा रही थी . स्थानीय विधायक श्री राजू तिवारी के हस्तक्षेप पर प्राथमिकी दर्ज की गयी . यदि विधायक द्वारा हस्तक्षेप नहीं किया जाता तो पीडिता को न्याय नहीं मिल पाता . विधायक और पुलिस के बीच मामले को लेकर नोक झोक हो गैयी थी . पुलिस मामले को रफ्फा दफ्फा करने पर तुली हुई थी . जिसके कारन विधायक को थाना परिसर में ही धरना पर बैठना पड़ा . उसके बाद पुलिस सक्रीय हो गयी . सभी अभियुतों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया . पीडिता का मेडिकल जाँच कराया गया . घटना की तिथि को ही मामले की शाहपुर थाना में कांड सं० 83/21 , U/s 376(D) / 34 IPC ,3(1)(v)sc/st act & 04 POCSO act के तहत प्राथमिकी दर्ज की गयी . 

  • Posted by: NDMJ-Bihar
  • Fact finding date: 31-03-2021
  • Date of Case Upload: 21-04-2021


Files

1) FIR 
2) News clipping 
3) photo graph of incident place 

A Dalit girl raped and murder in Karnataka Gadag district Naragunda town

    Case details is not available
  • Posted by: Human Rights Forum for Dalit Liberation-Karnataka
  • Fact finding date: 02-04-2021
  • Date of Case Upload: 20-04-2021

श्री गुरु रविदास मंदिर शैड को राजपूतों ने तौडा at Bala

    यह घटना जिलाबिलासपुर की तहसील झडून्ता के गांव वाला की है यह गांव जिला मुख्यालय से 40 कि०मी० की दुरी पर है राज्य हिमाचल में जातिय व्यवस्था पर आधारित छुआछूत की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही है भारत को आज़ाद हुए 70 वर्ष के करीब हो गए है पर ऐसी घटिया मानसिकता रखने वाले लोग आज भी समाज में मौजूद है. घटना सिथित इस गांव में चमार जाति के 150 घर, राजपूत जाति के 100 घर, लोहार जाति के 20 घर, ब्राहमण जाति के 25 घर, जट जाति के 13 घर, खत्री जाति के 1 घर मुसलमान 1 घर व कबीर पंथी जाति के 6 घर है. इस गांव की दलित बस्ती साथ ही शामलात जगह पर लगभग 50 वर्ष पहले सभी गांव वासियों की सहायता से गुरु रविदास जी का मंदिर बना हुआ है जो की एक छोटे से मंदिर के रूप में है. इस मंदिर के आस पास काफी सारी सरकारी भूमि है जो की बहुत ही खराब हालत में थी जिसे दलित समाज के लोगों अपनी मेहनत मजदूरी से उसारा व वहां पर गुरु रविदास जयंती के दौरान बैठने काबिल जगह बनाई. आज से कई वर्ष पहले जब भी गुरु रविदास महाराज जी की जयंती होती थी तो दलित समाज के लोग भंडारे में खाना बनाते थे तो राजपूत जाति के लोग उस भंडारे में अपना हलवाई लेकर आते थे और अपने लिए अलग खाना बनवाते थे . राजपूत जाती के लोग दलित समाज के द्वारा बनाये गये खाने को नही खाते थे . इस बात का विरोध दलित समाज के लोगो ने किया की आप लोग भगवान की भक्ति की आड़ में जातीय भेदभाव करते हे . जिसके बाद  राजपूत जाती के लोगो  ने इस भंडारे में आना ही छोड़ दिया .प्रेम ठाकुर  जो की राजपूत जाति से हे वह आज से पांच साल पहले चुनाव में खड़ा हुआ था उसे उस चुनाव में जीत हासिल नही हुयी वह अपनी हार का कारण दलित समाज के लोगो को मानता है .


    जब गांव के लोग 26 फ़रवरी 2021 को श्री गुरु रविदास महाराज जी के जन्मदिवस को लेकर भंडारे की तेयारी कर रहे थे तो उपमंडल झडून्ता के प्रसाशन से कानुगो धर्म सिंह गांव के कुछ स्वर्ण जाति के लोगों के साथ जेसीबी लेकर आया और बिना कोई जानकरी व बिना कोई नोटिस दिए श्री गुरु रविदास मंदिर के साथ बनी बर्षो पुरानी तीन शैड को तौड डाला. इस बारे मंदिर कमेटी के किसी भी सदस्य को अवगत नहीं किया गया था. पुरे दलित समाज ने प्रसाशन के अधिकारियों के आगे फ़रियाद लगाईं की हमारा कल सतगुरु का भंडारा है कृपया आप इस शैड को न तोड़े पर प्रसाशनिक अधिकारियों ने एक बात ना सुनी इस दौरान मौका पर गांव से पूर्व प्रधान प्रेम सिंह जो राजपूत जाति से सम्बन्धित है ने मौका पर आपने समाज के लोग इक्कठा किये और प्रसाशनिक अधिकारियों को दिशा निर्देश देते हुए मंदिर में बनी शैड को तुडवाया और दलित समाज के लोगों को काफी बुरा भला कहा की मै तो आप सब के घर तुडवा कर रहूंगा क्योंकि आप सब ही मेरी चुनावी हार का कारण हो. इसके बाद सभी दलित समाज के लोगो ने SDM दफ्तर के बाहर धरना प्रदर्शन किया . जिस पर मोजुदा M.L.A ने कहा की वह मन्दिर की तोड़ी गयी शेड को बनवाकर देंगे और कोशिश करेंगे की जमीन मन्दिर के नाम हो जाये.        

  • Posted by: NDMJ - Himachal Pradesh
  • Fact finding date: 03-03-2021
  • Date of Case Upload: 20-04-2021

Images

     

पंचायत चुनाव लड़ रही दलित महिला पर जानलेवा हमला at Ambbala

    यह घटना जिला सोलन की तहसील नालागढ़ के गांव अम्बवाला की है. इस अम्बवाला गांव में गुज्जर जाति में से मीनू चौधरी रहती है. मीनू कपडे की दूकान करती है वह उसके पति पशुशाला चला रहे है और दूध की डायरी का काम करते है. मीनू दसवीं कक्षा तक ही पढ़ी लिखी है. उसकी उम्र 37 वर्ष की है. मीनू शादी शुदा है व् उसके दो बच्चे है एक बेटा और बेटी. मीनू चौधरी पिछले कार्यकाल में बार्ड पञ्च भी रह चुकी है. यह गांव नालागढ़ तहसील से 15 कि०मी० की दुरी पर है. राज्य हिमाचल में जातिय व्यवस्था पर आधारित छुआछूत की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही है भारत को आज़ाद हुए 70 वर्ष के करीब हो गए है पर ऐसी घटिया मानसिकता रखने वाले लोग आज भी समाज में मौजूद है. घटना सिथित इस गांव में, चमार जाति के 3 घर, राजपूत जाति के 3 घर, तेली 3, तरखान 3, कबीर पंथी जाति के 20 घर, गुज्जर जाति के 11 घर, है इस गांव में पानी की भी कोई समस्या नहीं है.


     


                    पंचायत चुनाव के चलते मीनू चौधरी ने 2/01/21 को प्रधान पद का चुनाव लड़ने हेतु बगलैहड़ पंचायत से फ़ार्म भरे और फ़ार्म वापिस उठाने की तारीख 6/1/21 थी गांव की पंचायत में दो बार मीटिंग की गई की कोई भी पेपर नहीं उठायेगा.यह बात पुनीत कौशल व उसकी पत्नी ने बोली जब 6/01/21 को बाकी लोगों के साथ मैं भी पेपर उठाने गई कि मुझे चुनाव नहीं लड़ना है तो पेपर उठाते समय लाइन में मीनू का न० 6 पर था पांच लोगों के पेपर उठाने के बाद जब मेरी बारी आई तो 3:01 बजे पर मीनू को  मना कर दिया गया की तुम पेपर नहीं उठा सकती की तुम लेट हो गई हो जबकि व् लाइन में ही थी फिर उसकी वहा पर बहस बाजी करके वापिस घर आ गई उसके सास ससुर व घरवाले ने यही फैंसला लिया की हम चुनाव नहीं लडंगे.


     


           8/01/21 को रोज की तरह मीनू चौधरी अपनी कपडे की दूकान पर गई 11:30 दोपहर को दो लड़के मोटरसाइकल पर आये उन्होंने अपने मुहं मफरल से ढके हुए थे एक ने मीनू को दूकान से बाहर बुलाया जैसे ही वह बाहर आई तो एक लडके ने कहा हांजी मैडम चुनाव लड़ने के बारे में किया विचार है मीनू ने कहा की मैं चुनाव नहीं लडूंगी और प्रचार भी नहीं करूंगी तभी उस लडके ने मीनू के सर पर मुक्का मारा उस दोरान उसके हाथ में कोई तेज़ धार चीज़ थी जिस वजह से मीनू के सर से खून निकलने लगा और काफी कट लग गया फिर जैसे ही मीनु ने बचाव के लिए अपने हाथ आगे किये उसने उसकी वाहों पर भी बार कर दिया जिस वजह से तीनो जख्मो पर कुल 12 टाँके लगे है. इतने में पीछे से कोई दो और लड़के गांव से आये जिनको मीनू न जानती है को आते देख दोषी दोनों लडके मौका से भाग गए. इस घटना से मीनू का परिवार बहुत ही डरा व सहमा हुआ है.    

  • Posted by: NDMJ - Himachal Pradesh
  • Fact finding date: 20-01-2021
  • Date of Case Upload: 20-04-2021

Images

     
Total Visitors : 2516005
© All rights Reserved - Atrocity Tracking and Monitoring System (ATM)
Website is Managed & Supported by Swadhikar