Total records:905

दलित महिला व् उसकी बेटी के साथ अभद्र व्यवहार और मारपीट at Amb

    यह घटना जिला ऊना की तहसील अम्ब  के गांव व्  डाकघर प्रतापनगर  की है. यह गांव ऊना मुख्यालय से 28 कि०मी० की दुरी पर है.राज्य हिमाचल में जातिय व्यवस्था पर आधारित छुआछूत की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही है भारत को आज़ाद हुए 70 वर्ष के करीब हो गए है पर ऐसी घटिया मानसिकता रखने वाले लोग आज भी समाज में मौजूद है.


                 अम्ब के प्रतापनगर में दलित जुलाहा (कबीरपंथी) जाति में से गुरमीत  कौर पत्नी इन्द्रजीत सिंह  रहती है जो की एक गृहणी है. गुरमीत कौर के 2 बच्चें है.एक बेटा और एक बेटी. बेटा प्राइवेट नौकरी  करता है और बेटी विद्यार्थी है. गुरमीत कौर का ससुराल पंजाब के फगवाड़ा में था. गुरमीत कौर हिमाचल में नदौन के रक्कड चोली की रहने वाली है. गुरमीत कौर के पति की मृत्यु सन् 2000 में हो गई थी. सन् 2007 में गुरमीत कौर को उसके मायके वालों ने तहसील अम्ब में  रहने के लिए जगह लेकर दी. गुरमीत कौर एक गरीब विधवा है. वह अपना और अपने परिवार का गुज़ारा एक गाये का दूध बेचकर करती  है. गुरमीत कौर का पड़ोसी जगन्नाथ  स्पुत्र० रामेश्वरदास है जो की पहले  दिल्ली में रहता था हाल ही में अम्ब में रहने लगा है. जगन्नाथ  व् उसका परिवार गुरमीत कौर और उसके  बच्चों के साथ जातीय भेदभाव करता है. जगन्नाथ गुरमीत कौर और उसके  दोनों बच्चों की गंदी –गंदी गालियाँ निकालता है. जगन्नाथ  गुरमीत कौर उसके दोनों बच्चों को जान से मारने की धमकी देता है. जगन्नाथ  के किरायेदार भी गुरमीत कौर के  साथ जातीय भेदभाव करते है उन्होंने गुरमीत कौर का झूठा नाम लेकर पुरे नगर में यह अफवाह फेलाई की जगन्नाथ  दिल्ली से आया है उसे और उसके परिवार वालों को कोरोना है. दिनांक :14.09.2020 को रात 8:30 बजे जगन्नाथ  व् उसके चार किरायेदार सलीम, सलीम टेलर, समीर और गुलफान ये पांचो ने  हाथ में डंडे लेकर  गुरमीत कौर और उसके बच्चो के साथ मारपीट की और गंदी गंदी गालियाँ निकाली. दिनांक : 16.09.2020 को गुरमीत कौर व् उसका बेटा अपने  साथ हुई मारपीट की शिकायत DSP ऑफिस अम्ब में लेकर गये थे. घर पर गुरमीत कौर की बेटी शालू देवी अकेली थी. जगन्नाथ  ने गुरमीत कौर की बेटी को गंदी – गंदी गालियाँ निकली और उसके गुप्त अंगों को छुआ जब शालू देवी ने उसका विरोध किया तो जगन्नाथ  उसे व् उसकी माँ को गंदी -गंदी  गालियाँ देने लगा.   जगन्नाथ  ने कहा की मैं तुम जुलाहों का जीना हराम कर  दूंगा.


       जब गुरमीत कौर और उसका बेटा घर पहुंचे तो उसकी बेटी ने रो –रोकर यह सब बातें गुरमीत कौर को बताई. जब गुरमीत कौर और उसके दोनों बच्चे थाना अम्ब में FIR दर्ज करवाने गये तो थाना अम्ब में गुरमीत कौर और उसके बच्चों की कोई सुनवाई नही हुई. उसके बाद गुरमीत कौर और उसके बच्चें घर आ गये. फिर दोपहर 12:30 बजे  गुरमीत कौर को और उसके पड़ोसी जगन्नाथ  को  पुलिस का फोन आया और दोनों पक्षों को  अम्ब थाना में बुलाया. जगन्नाथ  ने पुलिस अधिकारियो के सामने गुरमीत कौर को कहा की पुलिस भी मेरी है और सरकार भी मेरी है मेरा कोई कुछ नही बिगाड़  सकता. जगन्नाथ  के बेटे ने पुलिस अधिकारी से कहा की अगर गुरमीत कौर समझोता नही करती है तो उसके मुहं पर थपड लगाओ. जगन्नाथ  और उसके बेटे ने गुरमीत कौर और उसके बच्चों को काफी जलील किया लेकिन फिर भी पुलिस  अधिकारीयों द्वारा जगन्नाथ  व् उसके बेटे के खिलाफ कोई कार्यवाही अम्ल में नही लायी गई.  फिर गुरमीत कौर और उसके दोनों बच्चें दिनांक : 18.09.2020 को SP ऊना से मिले और अपनी FIR दर्ज करवाई. लेकिन फिर भी जगन्नाथ को  छोड़कर सलीम, सलीम टेलर, गुलफान और समीर के खिलाफ कोई कार्यवाही नही हुई और न ही कोई पूछताछ हुई.       


     


     

  • Posted by: NDMJ - Himachal Pradesh
  • Fact finding date: Not recorded
  • Date of Case Upload: 16-05-2021

Images

           

दलित महिला के साथ सरकारी रास्ते को लेकर मारपीट at Ladoli

    यह घटना जिला ऊना की तहसील अम्ब  के गांव लडोली डाकघर पन्जोआ लडोली की है. यह गांव ऊना मुख्यालय से 28 कि०मी० की दुरी पर है.राज्य हिमाचल में जातिय व्यवस्था पर आधारित छुआछूत की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही है भारत को आज़ाद हुए 70 वर्ष के करीब हो गए है पर ऐसी घटिया मानसिकता रखने वाले लोग आज भी समाज में मौजूद है. घटना सिथित इस गांव में चमार जाति के 200 घर, राजपूत जाति के  90 घर, ब्राहमण जाति के 10  घर, बाती (OBC) 10 , सुरेह्ड़े जाति के 50 घर गुज्जर जाति के 70  घर. जुलाहा (कबीरपंथी ) जाति के 100  घर है.


     


                 इसी गांव में दलित जुलाहा (कबीरपंथी) जाति में से सोनू कुमारी पत्नी श्री संजीव कुमार रहती है जो की कुठार कलां स्कूल में अध्यापिका है. सोनू कुमारी का एक ही बेटा है जो की कक्षा 11वीं में पढ़ता है. सोनू कुमारी जिस मकान में रह रही है उस मकान को उसके ससुराल वालों ने सन 1982 में बनाया था. सोनू कुमारी की शादी सन 2003 में हुई थी. सोनू कुमारी का पड़ोसी दलजिंदर सिंह सपुत्र०  प्रकाश चन्द जो की रिटायर्ड फ़ौजी है ने सन 2017 में सोनू कुमारी की ज़मीन के साथ में लगती अपनी ज़मीन पर अपना मकान बनाया और 2019 में उस मकान में रहना शुरू किया. सोनू कुमारी के घर के बाहर 12 मी० सरकारी रास्ता है.जिसका खसरा नंबर 650 है.और गैरमुमकिन शरेआम 12 मी० रास्ता है जो की दलजिंदर सिंह ने जबरदस्ती दबा रखा है.तथा वह रास्ता अब 3 मी० ही रह गया है.दलजिंदर सिंह सोनू कुमारी व् उसके परिवार वालों के किसी भी वाहन को उस जगह पर खड़ने नही देता है हालांकि वह सरकारी ज़मीन है. दलजिंदर सिंह कहता है की पूरा गावं इस ज़मीन को प्रयोग में ला सकता है लेकिन सोनू कुमारी व उसके परिवार वाले इस जगह को प्रयोग में नही ला सकते तथा इसी सरकारी रास्ते को लेकर दलजिंदर सिंह सोनू कुमारी  व् उसके परिवार वालों  के साथ आये दिन लड़ाई – झगड़ा करता रहता है. इसी लड़ाई – झगड़े के चलते दिनांक 12.06.2020 को सुबह 11:30 बजे दलजिंदर सिंह  व् उसके दोनों  भाई जोगिन्दर सिंह उर्फ़ टूटू, रणवीर सिंह उर्फ़ राणु, सुदेश पठानिया W/O दलजिंदर सिंह ,रोहित पठानिया सपुत्र० दलजिंदर सिंह उस ज़मीन पर नाजायज़ रैंप का निर्माण करने लग गये. लेकिन जब सोनू कुमारी ने दलजिंदर सिंह व् उसके परिवार वालों को ये काम करते हुए रोका तो उपरोक्त पांचो सोनू कुमारी और उसके बेटे दिव्यांश के साथ मारपीट व् जातिसूचक गालियाँ निकलने लगे. इस मारपीट में सोनू कुमारी को गहरी चोटें आई. इस मारपीट से सोनू कुमारी व् उसके बेटे दिव्यांश को उसके चाचा राजीव कुमार ने छुडवाया. इस घटना की FIR थाना अम्ब में 12.06.2020 को दर्ज करवाई गई. उस FIR का नंबर 0089 है.इस FIR में धारा 147, 149, 323, 506, 3 (1)r s w (1) लगी हुई है.थाना अम्ब की कार्यवाही के पश्चात दलजिंदर सिंह व् उसके साथियों के ऊपर सेशन कोर्ट ऊना में मुकदमा चला हुआ है. मुकदमा चलने के बावजूद भी दलजिंदर सिंह व् उसके परिवार वाले आये दिन सोनू कुमारी व् उसके परिवार वालों को प्रताड़ित करते रहते है. सोनू कुमारी एक शिक्षिका है. दलजिंदर सिंह ने सोनू कुमारी के उपर झूठी R.T.I व् शिकायत पत्र शिक्षा विभाग ऊना तक भी दी है. दलजिंदर सिंह दबंग किस्म का आदमी है. दलजिंदर  सिंह ने इसी लड़ाई – झगड़े के चलते सोनू कुमारी व् उसके बेटे को जान से मारने का प्रयास किया और सोनू कुमारी के पुरे परिवार को जान से मारने की धमकी देने लगा. इसके बाद सोनू कुमारी ने  09.01.2021 व् 19.01.2021 को थाना अम्ब में FIR दर्ज करवाई. जिसके उपर कार्यवाही करते हुए दोनों पक्षों को  दिनांक 20.01.2021 को  बुलाया गया. वहां पर भी दलजिंदर सिंह पुलिस अधिकारीयों के सामने अभद्र शब्दों का प्रयोग करने लगा. इसके बाद SDM कोर्ट अम्ब में दिनांक :21.01.2021 को ASI श्री कुलबिंदर राणा के द्वारा केस  पेश किया गया. इसके पश्चात भी दलजिंदर सिंह व् उसके परिवार वाले आये दिन सोनू कुमारी व् उसके परिवार वालों को तंग करते रहते है. जिसके खिलाफ पुलिस प्रशासन की तरफ से कोई कार्यवाही अम्ल में नही लाई गई है. हाल ही में सोनू कुमारी के ससुर ने 03.05.2021 को दलजिंदर सिंह व उसके परिवार वालों के खिलाफ थाना अम्ब में शिकायत दर्ज करवाई थी लेकिन उस शिकायत पर भी पुलिस अधिकारियो के द्वारा कोई कार्यवाही अम्ल में नही लायी गयी है.               


     

  • Posted by: NDMJ - Himachal Pradesh
  • Fact finding date: 13-05-2021
  • Date of Case Upload: 16-05-2021

Images

           

Attack on Dalit at Sonipat

       On dated 31.7.20 at approx. 12pm midnight victim Rishiraj reached at his home after a singing program and get sleep. At approx. 12.30pm accused Anil, Monu and Ravinder reached at victims home and kidnapped him on Gun point on a bullet bike. Accused ravinder run away from there then all accused went at near Anil. All accused beaten to victim very cruelly. Rishiraj run away from the incident spot and hide himself in a sugarcane field. Victims brother Surajbhan call to him then he told him his location. After that surajbhan went there and took him at home,in mean Neelam w/o rishiraj made a call on women help line number 1091.


    In the morning at approx. 3am I.O. Satish Dahiya (ASI) and another two unknown policemen reached at victim home from P.C. Khubdu. Satish Dahiya threaten to victim that” he will insert a stick in your anus due to false complaint” and returned back. Next day victim went in the hospital at Gannour where he was referred to sonipat hospital. Where he was again referred to PGI Rohtak.


    Victim given written complaint to police and also mention that accused Surrender s/o ram singh caste valmiki also involve in planning in this attack. All accused are having criminal background and have illegal weapons.  


    Police lodge an FIR No. 0337/20 u/s 323/34/506 IPC on dated 3.8.20 at P.S. Gannaur, but not invoked 3(1)(r) Sc/St Act in FIR.

  • Posted by: NDMJ-Haryana
  • Fact finding date: 17-09-2020
  • Date of Case Upload: 14-05-2021


Files

1) FIR/20 

Attack on Dalit Dodpur Panipat

     victim Mukesh kumar s/o Ishwar singh caste Chamar r/o village Dodpur Tehsil Samalkha District Panipat. he have three children and doing labour. On dated 11.9.20 at approx. 7pm he went at near canal, where accused Gullu s/o Brampal, Sushil s/o Roshan, Mohra s/o Paleram caste Gujjar met him. All accused caste abused him like “Chamar- Gindle” and attacked on him along with Gandassi and iron rods. Due to serious injury he was unconscious, later his brother Mhender and others admitted him in civil hospital Samalkha. All accused also beaten his brother Mhender also in which he was also injured. When villagers were gathered all accused threaten to kill them and run away.   

  • Posted by: NDMJ-Haryana
  • Fact finding date: 14-09-2020
  • Date of Case Upload: 13-05-2021

Images

 

Murderous attack on a man belonging to Scheduled Castes and his wife by the general class bullies.

    जगिया राम पिता नैन सिंह और उनकी पत्नी संतोष देवी गाव चांदनी (डाकघर भ्रगो बनेडी, तहसील कमरऊ, जिला सिरमौर, हिमाचल प्रदेश) में अपने दो बेटों के साथ निवास करते हैं. परिवार कोली समाज से सम्बन्ध रखते हैं. अक्टूबर 2016 में जगिया राम ने अपने भाई के नाम पर एक सामान्य जाति के व्यक्ति मोहन सिंह से गाव से सतोण सड़क मार्ग पर 1 बीघा 9 बिस्वा भूमि खरीदी थी. जगिया राम के भाई की सहमती से बैंक लोन लिया और भूमि की निशानदेही करवाई तभी पत्थर पर सफेदी कर के उन्होंने अपनी भूमि की सीमा बाँधी थी. जगिया राम ने उस भूमि पर JCB के माध्यम से भूमि समतल करवाने का काम शुरू किया. उनका कहना है कि तभी से सामान्य जाति से सम्बन्ध रखने वाले एक परिवार के अनिल कुमार, कुलदीप, सोन सिंह, सुरिंदर, प्रकाश ने हमारी खरीदी गयी भूमि पर जबरन अपना कब्ज़ा जताना शुरू कर दिया. “जब से हमने ये भूमि खरीदी है तब से इस परिवार ने हमारे साथ लड़ाई करना शुरू किया और यह दावा किया की सड़क से लगती भूमि उनकी मल्कियत की ज़मीन है” जगिया राम ने बताया.


     सोमवार 16 सितम्बर 2020 समय दोपहर 12 बजे करीब अनिल कुमार, कुलदीप, सोन सिंह, सुरिंदर, प्रकाश और उनके परिवार की कुछ महिलाओं ने जगिया राम की भूमि पर कांटेदार तार-बाड़ व लोहे के खम्बे लगाने का काम लगा दिया .जागिय राम की पत्नी संतोष  ने बताया कि “जैसे ही हमें कुछ आवाजें आने लगीं तो मैं और मेरे पति मौके पर पहुंचे और यह देखा तथा उनको तार लगाने से रोका. उन्होंने उसी वक्त हिंसक तरीके से प्रातक्रिया दी और गाली गलौच कर हम पर हमला कर दिया. अनिल ने अपने साथ ली तलवार से मेरे पति पर वार करने की कोशिश की और बचाव में उन्होंने हाथ आगे किया तो वार उनकी ऊँगली पर हुआ जो कट गयी!

  • Posted by: Centre for Mountain Dalit Rights Himachal Pradesh
  • Fact finding date: 12-10-2020
  • Date of Case Upload: 13-05-2021


Files

1) FIR 
2) FIR 
Total Visitors : 2612554
© All rights Reserved - Atrocity Tracking and Monitoring System (ATM)
Website is Managed & Supported by Swadhikar